ड्रोन से 25 एकड़ फसल पर एक दिन में छिड़काव संभव

Share

हाईटेक होती खेती

8 सितम्बर 2021, ड्रोन से 25 एकड़ फसल पर एक दिन में छिड़काव  संभव – अब खेती में हाईटेक तकनीक का प्रयोग शनै: शनै: बढ़ता जा रहा है। युवा वर्ग को भी खेती अब उत्तम लगने लगी है, रास आने लगी है। हाल ही में केन्द्र सरकार ने ड्रोन उपयोग के नियमों का सरलीकरण कर दिया है। और कृषि में भी ड्रोन के विभिन्न उपयोग की संभावनाएं बढ़ गई हंै। बीमा कम्पनियों द्वारा फसल सर्वेक्षण, सरकार द्वारा क्षति की स्थिति में फसल का आकलन, खड़ी फसलों पर कीटनाशकों, लिक्विड फर्टिलाइजर का छिडक़ाव आसान हो जाएगा। इसी कड़ी में मध्य प्रदेश के सागर कृषि विज्ञान केन्द्र में गरूड़ा ऐरोस्पेस, चेन्नई द्वारा पेस्टीसाइड एवं घुलनशील उर्वरकों का सोयाबीन, अमरूद की फसल पर ड्रोन द्वारा छिडक़ाव किया गया।

विशेषज्ञों के अनुसार प्रति एकड़ 15 ली. पानी के साथ सन्तुलित उर्वरकों एवं पेस्टीसाइड को अलग-अलग केवल 15 मिनट में एक एकड़ खेत का छिडक़ाव किया गया। वहीं पर 10 ली. पानी में सन्तुलित मात्रा को मिलाकर प्रति 30 अमरूद के पौधों पर छिडक़ाव किया गया। खेती में उपयोग में आने वाले ड्रोन का अनुमानित मूल्य 6-7 लाख रु. एवं वजन 25 कि.ग्रा. तथा रिमोट कन्ट्रोल होने से समय, पानी की बचत एवं आर्थिक रूप से भी काफी लाभदायक होगा। एक आकलन के अनुसार लगभग 25 एकड़ फसल पर छिडक़ाव एक दिन में किया जा सकता है। भविष्य में यदि शासन स्तर से एवं वैज्ञानिक तौर पर ड्रोन से कीटनाशी, रोगनाशी एवं घुलनशील उर्वरकों आदि के छिडक़ाव के परीक्षण उपरान्त अनुमति प्रदान की जाती है तो निश्चित तौर पर समय की बचत के साथ-साथ मजदूरों की समस्या एवं प्रति हेक्टे. लागत में भी कमी आएगी। इस तकनीकी का उपयोग फलदार वृ़क्षों में काफी उपयोगी सिद्ध होगा।

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.