प्रधानमंत्री श्री मोदी को केन बेतवा लिंक परियोजना के भूमि पूजन के लिए मुख्यमंत्री श्री चौहान ने किया आमंत्रित

Share

4 फरवरी 2022, भोपाल । प्रधानमंत्री श्री मोदी को केन बेतवा लिंक परियोजना के भूमि पूजन के लिए मुख्यमंत्री श्री चौहान ने किया आमंत्रित – मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने आज दिल्ली में प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी से भेंट कर केन-बेतवा लिंक परियोजना के लिए राशि स्वीकृत करने के लिए मध्यप्रदेश की जनता की ओर से हृदय से धन्यवाद दिया। उन्होंने प्रधानमंत्री श्री मोदी को केन-बेतवा नदी परियोजना के भूमिपूजन कार्यक्रम में पधारने का अनुरोध किया। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने प्रधानमंत्री श्री मोदी से भेंट के उपरांत मीडिया से चर्चा ने बताया कि उज्जैन में श्री महाकाल मंदिर परिसर के विस्तार, इंदौर में “वेस्ट टू वेल्थ” अंतर्गत गीले कचरे से सीएनजी बनाने के प्लांट व महिला स्वसहायता समूहों द्वारा संचालित किए जाने वाले सेल्फ हेल्प ग्रुप के 7 पोषण आहार प्लांटों के लोकार्पण मैं पधारने का निवेदन भी प्रधानमंत्री श्री मोदी से किया है।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि इस वर्ष के बजट में केन और बेतवा नदियों को जोड़ने के लिए 44 हजार करोड़ रुपये से अधिक की राशि स्वीकृत की गई है। इन दोनों नदियों को जोड़कर जो बांध बनेंगे, उससे लगभग 10 लाख हेक्टेयर में सिंचाई होगी और 50 लाख लोगों को पीने का पानी मिलेगा। इससे मध्यप्रदेश और उत्तर प्रदेश में आने वाला बुंदेलखण्ड लाभान्वित होगा। प्रधानमंत्री श्री मोदी के इस निर्णय से बुंदेलखण्ड की जनता में हर्ष है।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बताया कि उज्जैन में श्री महाकाल मंदिर परिसर के विस्तार का कार्य पूर्णता की ओर है। लगभग अप्रैल के अंत तक वह पूरा हो जायेगा। प्रधानमंत्री श्री मोदी की प्रेरणा और मंत्र पर अमल करते हुए इंदौर में “वेस्ट टू वेल्थ” अंतर्गत गीले कचरे से सीएनजी बनाने का प्लांट निर्मित किया गया है। इससे सीएनजी बनेगी और 550 मेट्रिकटन कचरे का निपटारा हो सकेगा।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने मीडिया से चर्चा में कहा कि प्रदेश में पूर्व में पोषण आहार बनाने का काम कान्ट्रेक्टर करते थे। अब इस काम को महिला स्वसहायता समूह कर रहे हैं। इसके लिए सेल्फ हेल्प ग्रुप के 7 पोषण आहार प्लांटों का निर्माण किया जा रहा है। इसके उदघाटन के लिए प्रधानमंत्री श्री मोदी से आग्रह किया गया है।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने प्रधानमंत्री श्री मोदी को बताया कि प्रदेश के गांवों में गांव का जन्म दिन मनाने के लिए ग्रामवासियों को प्रेरित किया जा रहा है । विचार यह है कि एक दिन गांव के सभी लोग एकत्रित होकर गांव का जन्म दिन मनाएंगे। सभी लोग मिलकर गांव के विकास की कार्ययोजना तय करेंगे और उसके क्रियान्वयन के लिए रणनीति बनाएंगे।

महत्वपूर्ण खबर: देश की प्रमुख मंडियों में सोयाबीन के मंडी रेट और आवक (3 फरवरी 2022 के अनुसार)

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.