राष्ट्रीय कृषि समाचार (National Agriculture News)

कश्मीर में सेब महोत्सव का केंद्रीय कृषि मंत्री श्री तोमर व उप राज्यपाल श्री सिन्हा ने किया शुभारंभ

Share

28 अक्टूबर 2021, नई दिल्ली । कश्मीर में सेब महोत्सव का केंद्रीय कृषि मंत्री श्री तोमर व उप राज्यपाल श्री सिन्हा ने किया शुभारंभ – जम्मू-कश्मीर के श्रीनगर में पहली बार आयोजित सेब महोत्सव का शुभारंभ आज केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री श्री नरेंद्र सिंह तोमर एवं उप राज्यपाल श्री मनोज सिन्हा ने किया। इस अवसर पर श्री तोमर ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी देश में कृषि व सम्बद्ध क्षेत्र के विकास तथा किसानों की आय बढ़ाने के लिए पूरी ताकत के साथ काम कर रहे हैं। साथ ही अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भारत की धाक जमाने व साख बढ़ाने के लिए प्रधानमंत्री जी-जान से प्रयास कर रहे हैं। श्री तोमर ने जम्मू-कश्मीर सरकार की सराहना करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री के नेतृत्व में केंद्र सरकार द्वारा विभिन्न योजनाओं के अंतर्गत उपलब्ध कराई धनराशि से राज्य में कृषि के विकास के लिए बहुत अच्छा व तेजी से काम किया जा रहा है।

श्री तोमर ने कहा कि सेब व कश्मीर एक-दूसरे के पर्याय है, यह मुख्य फसल है और यह महत्वपूर्ण आयोजन यहां के सेब उत्पादकों व अन्य हितधारकों को उप राज्यपाल श्री मनोज सिन्हा के कुशल नेतृत्व में एक बेहतर प्लेटफार्म प्रदान करेगा। 2.2 मिलियन मीट्रिक टन से अधिक के वार्षिक उत्पादन के साथ यहां का सेब राष्ट्रीय उत्पादन का 87 प्रतिशत योगदान देता है तथा जम्मू-कश्मीर की लगभग 30 प्रतिशत आबादी की आजीविका से जुड़ा हुआ है। देश की आजादी के अमृत महोत्सव के अंतर्गत सेब महोत्सव का आयोजन किसानों की आमदनी बढ़ाने में मील का पत्थर साबित होगा। श्री तोमर ने इस बात पर प्रसन्नता जताई कि राज्य में एक विशेष योजना के तहत 2300 हेक्टेयर क्षेत्र में उच्च घनत्व वृक्षारोपण किया जा चुका है व उच्च घनत्व रोपण सामग्री के लिए सबसे बड़ा संगरोध केंद्र भी खोला जा रहा है।

उप राज्यपाल श्री मनोज सिन्हा ने कहा कि जीडीपी में कृषि व सम्बद्ध क्षेत्र का महत्वपूर्ण योगदान है और अधिकांश निवासी कृषि पर आधारित है, जिनके उत्थान के लिए केंद्र व राज्य सरकार मिलकर काम कर रही है। किसानों की आय दोगुनी करने के लिए विभिन्न योजनाएं लागू की गई है। राज्य के किसान भी सर्वोत्कृष्ट प्रदर्शन कर रहे हैं। प्रधानमंत्री के आत्मनिर्भर भारत के विजन को पूरा करने के लिए पूरी ताकत से काम किया जा रहा है। उन्होंने वैज्ञानिकों से अनुरोध किया कि वे अपनी रिसर्च का फायदा लैब से लैंड तक पहुंचाएं। श्री सिन्हा ने आश्नवस्त किया कि जम्मू-कश्मीर में प्रतिकूल मौसम के कारण हुए नुकसान के बदले राज्य के शासन-प्रशासन द्वारा किसानों की पूरी आर्थिक सहायता की जाएगी। उन्होंने कहा कि राज्य में किसानों की भूमि की रक्षा करने की जिम्मेदारी जम्मू-कश्मीर सरकार की है। इस संबंध में कानूनी प्रावधान किसानों के हित में ही है।

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *