राष्ट्रीय कृषि समाचार (National Agriculture News)

मंदसौर के किसान लहसुन के खेत जलाने पर मजबूर, वहीँ चीन से आयात हो रहा लहसुन

Share
बाजार भाव 2 रुपये प्रति किलो 

13 अक्टूबर 2022, नई दिल्ली: मंदसौर के किसान लहसुन के खेत जलाने पर मजबूर, वहीँ चीन से आयात हो रहा लहसुन – मंदसौर जिले के किसानों को अपने लहसुन के खेतों को जलाने के लिए मजबूर होना पड़ा रहा है. इसका कारण बाजार मूल्य है जो 2 से 5 रुपये प्रति किलो तक आ गया है। पिछले साल वहीं, लहसुन के बाजार भाव 25-30 रुपये प्रति किलो के बीच थे।

लहसुन उगाने के लिए मशहूर मंदसौर जिले में कीमतें इतनी कम कभी नहीं रहीं। प्रचलित कम बाजार मूल्य इनपुट लागत और बाजारों तक परिवहन लागत को भी कवर नहीं करता है।

चीन से आयातित लहसुन

चीन से आयातित लहसुन में बड़े बल्ब होता है जिसे ग्राहक  पसंद करते हैं। इन बड़े बल्बों को छीलना आसान होता है। यह कम कीमत का एक प्रमुख कारण है। कीमत कम होने का एक और महत्वपूर्ण कारण यह है कि पिछले 3 वर्षों में लहसुन बुवाई में 15-20 प्रतिशत की वृद्धि हुई है।

पिछले 6 से 8 महीनों में किसानों ने फसल उगाने पर अच्छी रकम खर्च की है। वहीं, राजस्थान के कोटा जिले के एक किसान ने कहा, ”हमने 6 महीने पहले फसल की कटाई की थी और फिर बेहतर कीमत पाने की उम्मीद में इसे 6 महीने तक स्टोर किया था। बाजार की कीमतें अभी भी बहुत कम हैं लेकिन खुले बाज़ार में ग्राहक  इसे बहुत महंगी दर पर खरीद  रहे हैं।

महत्वपूर्ण खबर: किसानों के लिए बड़ा दिन: 17 अक्टूबर को पीएम मोदी करेंगे 600 मॉडल उर्वरक दुकानों का उद्घाटन

(नवीनतम कृषि समाचार और अपडेट के लिए आप अपने मनपसंद प्लेटफॉर्म पे कृषक जगत से जुड़े – गूगल न्यूज़,  टेलीग्राम )

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *