कृषि में ड्रोन उपयोग के लिए एसओपी

Share

22 दिसंबर 2021, नई दिल्ली: केंद्र सरकार द्वारा राष्ट्रीय ड्रोन नीति जारी करने के साथ ही ड्रोन नियम-2021 को ड्रोन के स्वामित्व व संचालन के लिए काफी आसान बना दिया गया है। साथ ही, कृषि में कीटनाशकों व मिट्टी और फसल पोषक तत्वों के साथ ड्रोन उपयोग के लिए “मानक संचालन प्रक्रिया” (एसओपी)बनाई गई है, जिसे एक कार्यक्रम में केंद्रीय कृषि मंत्री श्री नरेंद्र सिंह तोमर ने जारी किया। इस अवसर पर श्री तोमर ने कहा कि ड्रोन के उपयोग से किसानों को काफी फायदा होगा, वहीं रोजगार भी बढेंगे।

श्री तोमर ने कहा कि कृषि क्षेत्र में सभी नियम व सावधानियों के साथ ड्रोन पालिसी का आज एक नया आयाम जुड़ा है। श्री तोमर ने जिक्र किया कि पिछले साल देश में टिड्डियों के प्रकोप को दूर करने के लिए कृषि मंत्रालय द्वारा नागर विमानन मंत्रालय व राज्य सरकारों की मदद से ड्रोन सहित नई टेक्नालाजी के माध्यम से नियंत्रण किया गया था।

केंद्रीय मंत्री श्री तोमर ने बताया कि साहूकारों पर किसानों की निर्भरता कम करने व उन्हें खेती के लिए आसान ऋण दिलाने के लिए सरकार ने किसान क्रेडिट कार्ड का अभियान चलाया है, सूक्ष्म सिंचाई परियोजना का लाभ भी किसानों को मिल रहा है। एक लाख करोड़ रूपए के कृषि इंफ्रास्ट्रक्चर फंड द्वारा निजी निवेश के माध्यम से सुविधाएं उपलब्ध कराने एवं दस हजार नए किसान उत्पादक संगठन (एफपीओ) के गठन द्वारा किसानों को महंगी फसलों की ओर आकर्षित करने, उन्हें टेक्नालाजी का लाभ पहुंचाने, प्रोसेसिंग व मोल-भाव करने की सुविधा देने आदि की शुरूआत भी हो चुकी है। ये योजनाएं किसानों के जीवन में क्रांतिकारी परिवर्तन लाएगी।

महत्वपूर्ण जानकारीप्रधानमंत्री के प्राकृतिक खेती पर दिए उद्बोधन हेतु कार्यक्रम आयोजित

कार्यक्रम में राज्य मंत्री श्री कैलाश चौधरी विशेष रूप से उपस्थित थे। कृषि सचिव श्री संजय अग्रवाल ने भी संबोधित किया। संयुक्त सचिव श्रीमती शोमिता बिस्वास ने संचालन किया और ड्रोन एसओपी के संबंध में प्रेजेन्टेशन दिया। संयुक्त सचिव श्री प्रमोद मेहरदा ने आभार माना। ड्रोन फेडरेशन ऑफ इंडिया के पदाधिकारी, राज्यों के अधिकारी, कस्टम हायरिंग केंद्रों के संचालक भी कार्यक्रम से जुड़े थे।

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.