भारतीय खाद्यान्न उत्पादन रिकॉर्ड 30.54 करोड़ टन होने की संभावना

Share

कृषि मंत्रालय का तीसरा अग्रिम अनुमान

26  मई 2021, नई दिल्ली । खाद्यान्न उत्पादन रिकॉर्ड 30.54 करोड़ टन होने की संभावना – कृषि मंत्रालय, ने 2020-21 के लिए प्रमुख फसलों के उत्पादन का तीसरा अग्रिम अनुमान जारी किया है। कुल खाद्यान्न उत्पादन 30.54 करोड़ टन रहने का अनुमान है।  विभिन्न फसलों के उत्पादन का आकलन राज्यों से मिले आंकड़ों पर आधारित है और अन्य स्रोतों से उपलब्ध जानकारी से इसका सत्यापन किया गया है।

2020-21 के लिए तीसरे अग्रिम अनुमान के तहत, देश में कुल खाद्यान्न उत्पादन रिकॉर्ड 30.544 करोड़ टन रहने का अनुमान है, जो 2020-21 के दौरान उत्पादन पिछले पांच वर्षों (2015-16 से 2019-20) के औसत खाद्यान्न उत्पादन की तुलना में 2.666 करोड़ टन ज्यादा है।

वर्ष 2020-21 के दौरान चावल का कुल उत्‍पादन रिकॉर्ड 12.146 करोड़ टन रहने का अनुमान है। यह विगत 5 वर्षों के 11.244 करोड़ टन औसत उत्‍पादन की तुलना में 90.1 लाख टन अधिक है।इसी प्रकारवर्ष 2020-21 के दौरान गेहूं का कुल उत्‍पादन रिकॉर्ड 10.875 करोड़ टन अनुमानित है। यह विगत पांच वर्षों के 10.042 करोड़ टन औसत गेहूं उत्‍पादन की तुलना में 83.2 लाख टन अधिक है।मोटे अनाजों का उत्‍पादन 4.966 करोड़ टन अनुमानित है इसके अलावा, यह औसत उत्‍पादन की तुलना में भी 56.8 लाख टन अधिक है।

वर्ष 2020-21 के दौरान कुल दलहन उत्‍पादन 2.558 करोड़ टन अनुमानित है जो विगत पांच वर्षों के 2.193करोड़ टन औसत उत्‍पादन की तुलना में 36.4 लाख टन अधिक है।वहीकुल तिलहन उत्‍पादन रिकॉर्ड 3.657 करोड़ टन अनुमानित है जो, 2020-21 के दौरान औसत तिलहन उत्‍पादन की तुलना में 60.2 लाख टन अधिक है।

तीसरे अग्रिम अनुमान के तहत, 2020-21 के दौरान प्रमुख फसलों का अनुमानित उत्पादन इस प्रकार है : 

  • खाद्यान्न– 30.544 करोड़ टन। (रिकॉर्ड)
  • चावल– 12.146 करोड़ टन।(रिकॉर्ड)
  • गेहूं– 10.875 करोड़ टन।(रिकॉर्ड)
  • पोषक तत्व/मोटे अनाज – 4.966 करोड़ टन।
  • मक्का– 3.024 करोड़ टन।(रिकॉर्ड)
  • दालें– 2.558 करोड़ टन।
  • तुअर– 0.414 करोड़ टन।
  • चना– 1.261 करोड़ टन।(रिकॉर्ड)

तिलहन – 3.657 करोड़ टन।

  • मूंगफली– 1.012 करोड़ टन।(रिकॉर्ड)
  • सोयाबीन– 1.341 करोड़ टन।
  • रेपसीड और सरसों– 0.999 करोड़ टन।(रिकॉर्ड)
  • गन्ना– 39.280 करोड़ टन।
  • कपास– 3.649 करोड़ गांठें (प्रत्येक 170 किग्रा)
  • जूट और मेस्टा– 0.962 करोड़ गांठें (प्रत्येक 180 किग्रा)

वर्ष 2020-21 में गन्‍ने का उत्‍पादन 39.280 करोड़ टन अनुमानित है।वर्ष 2020-21 के दौरान गन्‍ने का उत्‍पादन औसत गन्‍ना उत्‍पादन 36.207 करोड़ टन की तुलना में 3.073 करोड़ टन अधिक है।वहीकपास का उत्‍पादन 3.649 करोड़ गांठें (प्रति 170 किग्रा की गांठें) अनुमानित हैं, जो औसत कपास उत्‍पादन की तुलना में 45.9लाख गांठें अधिक है। जूट एवं मेस्‍ता का उत्‍पादन 96.2 लाख गांठें (प्रति 180 किग्रा की गांठें) अनुमानित हैं।

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *