आईकास VIII 18 नवंबर से

व्हाट्सएप या फेसबुक पर शेयर करने के लिए नीचे क्लिक करें

कृषि सांख्यिकी पर 8वां अंतराष्ट्रीय सम्मेलन

नई दिल्ली। कृषि अनुसंधान एवं शिक्षा विभाग (डेयर), कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय, भारत सरकार 18 से 21 नवंबर, तक नई दिल्ली में ‘कृषि सांख्यिकी पर 8वां अंतराष्ट्रीय सम्मेलन-2019 (आईसीएएस – VIII)’ का आयोजन कर रही है। 

इस कार्यक्रम का आयोजन कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय के तहत कृषि सहकारिता एवं किसान कल्याण विभाग की सक्रिय भागीदारी और खाद्य एवं कृषि संगठन (एफएओ), संयुक्त राष्ट्र; अमेरीकी कृषि विभाग (यूएसडीए); आईएसआईकास; यूरोस्टेट; सांख्यिकी और कार्यक्रम कार्यान्वयन मंत्रालय और विभिन्न राष्ट्रीय एवं अंतराष्ट्रीय संगठन के निकट सहयोग से किया जा रहा है। 

श्री त्रिलोचन महापात्रा महानिदेशक भाकृअप. ने बताया कि इस वर्ष आईकास-VIII सम्मेलन की विषय-वस्तु – ‘सतत विकास लक्ष्यों को प्राप्त करने की दिशा में कृषि के परिवर्तन के लिए सांख्यिकी’- होगा। इस सम्मेलन में कृषि सांख्यिकी के संग्रहण और विश्लेषण के लिए विधियों और मानकों के उपयोग पर पूर्व और बाद के सम्मेलन के आयोजन के रूप में कई दूसरे कार्यक्रम और प्रशिक्षणों को संलंग्न किया जाएगा।

सतत विकास लक्ष्यों पर रिपोर्ट करने के लिए आंकड़ों के उत्पादन में राष्ट्रीय सांख्यिकीय प्रणाली द्वारा सामना की जाने वाली विभिन्न चुनौतियों का समाधान करने के उद्देश्य से सम्मेलन के दौरान कृषि सांख्यिकी के क्षेत्र में विभिन्न प्रमुख अनुसंधानों और सर्वोत्तम प्रथाओं के विभिन्न परिणामों पर चर्चा की जाएगी और उन्हें अंतिम रूप दिया जाएगा।

राष्ट्रीय कृषि विज्ञान केंद्र परिसर, नई दिल्ली में 18 नवंबर, 2019 को आयोजित सम्मेलन उद्घाटन समारोह में विभिन्न मंत्रालयों, सम्मेलन प्रतिनिधियों, अधिकारियों, स्वयंसेवकों और छात्रों सहित कुल 1200 प्रतिभागी भाग लेंगे। कार्यक्रम के अनुसार, विषयगत सत्र 19 से 21 नवंबर, 2019 तक नई दिल्ली के अशोक होटल में आयोजित किया जाएगा। श्री पिएत्रो जेनारी, मुख्य सांख्यिकीविद, एफएओ, रोम, इटली; सुश्री मारियाना कोटजेवा, महानिदेशक, यूरोस्टेट और प्रो. रमेश चंद्र, सदस्य, नीति आयोग, भारत सम्मेलन के दौरान मुख्य वक्ता होंगे।

इस सम्मेलन में एफएओ, यूएसडीए, यूरोस्टेट, एडीबी, एएफडीबी, विश्व बैंक और दुनिया भर के 60 से अधिक देशों के लगभग 200 प्रतिनिधियों सहित कुल 600 से अधिक प्रतिनिधियों के भाग लेने की उम्मीद हैं।

व्हाट्सएप या फेसबुक पर शेयर करने के लिए नीचे क्लिक करें
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

1 × three =

Open chat
1
आपको यह खबर अपने किसान मित्रों के साथ साझा करनी चाहिए। ऊपर दिए गए 'शेयर' बटन पर क्लिक करें।