भारत में बढ़ रही नारियल की खेती, प्रसंस्करण, बाजार व निर्यात – श्री तोमर

Share
जूनागढ़ में विश्‍व नारियल दिवस समारोह का उद्घाटन, राष्‍ट्रीय पुरस्‍कार व निर्यात उत्‍कृष्‍टता पुरस्‍कार घोषित

02 सितम्बर 2022, जूनागढ़ (गुजरात) / नई दिल्ली: भारत में बढ़ रही नारियल की खेती, प्रसंस्करण, बाजार व निर्यात – श्री तोमर – केंद्रीय कृषि मंत्री श्री नरेंद्र सिंह तोमर ने आज जूनागढ़ (गुजरात) में नारियल विकास बोर्ड के छठें राज्‍य केंद्र का लोकार्पण किया। श्री तोमर ने 24वें विश्‍व नारियल दिवस समारोह का उद्घाटन भी किया। यहां श्री तोमर ने कहा कि भारत में नारियल की खेती के साथ ही प्रसंस्करण व बाजार बढ़ रहा है, इनके निर्यात की दृष्टि से भी हमारा देश अग्रणी स्थिति में आ गया है। बोर्ड के माध्यम से नारियल की खेती करने वाले किसानों को सरकार की योजनाओं का लाभ पहुंच रहा है और उनकी आमदनी में बढ़ोत्तरी के साथ ही देश की अर्थव्यवस्था में भी इनका योगदान हो रहा है।

इंटरनेशनल कोकनट कम्‍युनिटी (आईसीसी) के स्‍थापना दिवस के स्‍मरणोत्‍सव के रूप में हर वर्ष 2 सितंबर को विश्‍व नारियल दिवस समारोह मनाया जाता है। इस वर्ष विश्‍व नारियल दिवस का मुख्‍य विषय है- खुशहाल भविष्‍य और जीवन के लिए नारियल की खेती करें। श्री तोमर ने इस मौके पर नारियल विकास बोर्ड के राष्‍ट्रीय पुरस्‍कार व निर्यात उत्‍कृष्‍टता पुरस्‍कार विजेताओं को बधाई दी।

केंद्रीय मंत्री श्री तोमर ने कहा कि नारियल का देश में बाजार बढ़ रहा है और दुनिया में भी निर्यात की दृष्टि से भी हमारा देश अग्रणी अवस्था में आ गया है। नारियल की खेती को निरंतर बढ़ाने व प्रोसेसिंग के लिए केंद्र सरकार राज्यों के साथ मिलकर लगातार काम कर रही है। नारियल विकास बोर्ड के माध्यम से योजनाओं का गंभीरता से क्रियान्वयन किया जा रहा है।

महत्वपूर्ण खबर: लहसुन, प्याज के किसानों की मांग लेकर कृषि मंत्री पटेल दिल्ली में

जूनागढ़ प्रशासन, नारियल विकास बोर्ड द्वारा आयोजित समारोह में गुजरात के कृषि, पशुपालन, गौ प्रजनन मंत्री श्री राघवजीभाई पटेल, जूनागढ़ सांसद श्री राजेशभाई नारनभाई चुडासमा, जूनागढ़ के विधायक व अन्य जनप्रतिनिधि तथा केंद्रीय बागवानी आयुक्त डा. प्रभात कुमार मौजूद थे। प्रारंभ में केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय की संयुक्त सचिव व बोर्ड अध्यक्ष डा. विजयलक्ष्मी नदेंडला ने स्वागत भाषण दिया।

(नवीनतम कृषि समाचार और अपडेट के लिए आप अपने मनपसंद प्लेटफॉर्म पे कृषक जगत से जुड़े – गूगल न्यूज़,  टेलीग्राम )

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.