नई फर्टिलाइजर बैग पॉलिसी के आने के बाद किसान कैसे खरीदेंगे अपनी पसंदीदा कंपनी का उर्वरक

Share

25 अगस्त 2022, नई दिल्ली: नई फर्टिलाइजर बैग पॉलिसी के आने के बाद किसान कैसे खरीदेंगे अपनी पसंदीदा कंपनी का उर्वरक – सभी फर्टिलाइजर कंपनियों, राज्य व्यापारिक संस्थाओं और उर्वरक विपणन संस्थाओं के यूरिया, डीएपी, एमओपी, एनपीके आदि को अब भारत यूरिया, भारत डीएपी, भारत एमओपी और भारत एनपीके कहा जाएगा। फर्टिलाइजर सब्सिडी योजना ‘प्रधानमंत्री भारतीय जनउर्वरक परियोजना’ को दर्शाने वाला एक लोगो उर्वरक बोरियों पर मुद्रित किया जाएगा।

फर्टिलाइजर बैग पर कंपनी का नाम बहुत छोटे आकार में लिखा होगा, लेकिन इसके लिए अभी तक दिशा-निर्देश स्पष्ट नहीं हैं। उर्वरक उद्योग के एक प्रवक्ता ने कृषक जगत को बताया, “एक समान पैकेजिंग का निर्णय अच्छा है लेकिन उर्वरक कंपनी का नाम बहुत छोटे आकार में लिखा कंपनियों के लिए हतोत्साहित कर रहा है। उर्वरक कंपनियां किसानों के साथ कृषि विस्तार की बहुत सारी गतिविधियां करती हैं। उर्वरक कंपनी के कर्मचारियों द्वारा विस्तार गतिविधियों से किसानों को उर्वरकों के इष्टतम उपयोग और नवीनतम प्रथाओं को समझने में मदद मिलती है। इससे कंपनी को अपने ब्रांड को बढ़ावा देने में मदद भी मिलती है। अब चूंकि उर्वरक बैग पर उर्वरक कंपनी का लोगो बड़ा नहीं होगा, इससे खेतों पर कंपनी की गतिविधि कम हो सकती है।”

अब तक, किसानों को पता था कि उनकी पसंदीदा और भरोसेमंद कंपनी के उर्वरक का बैग कैसा दिखता है। भविष्य में, उन्हें बैग पर कंपनी का ब्रांड नाम और लोगो ध्यान से देखना होगा और खरीद पर निर्णय लेना होगा।

सरकार ने उर्वरक कंपनियों को 15 अगस्त 2022 के बाद पुराने बोरे नहीं खरीदने करने का निर्देश दिया है। नए बोरे 2 सितंबर 2022 से शुरू किए जाएंगे।

महत्वपूर्ण खबर: किसानों को उनकी फसल का पूरा लाभ दिलाया जाएगा : श्री पटेल

(नवीनतम कृषि समाचार और अपडेट के लिए आप अपने मनपसंद प्लेटफॉर्म पे कृषक जगत से जुड़े – गूगल न्यूज़ ,  टेलीग्राम )

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.