सफायर का खरपतवारनाशक ‘मिकाशा’

Share

4 जून 2022, भोपाल । सफायर का खरपतवारनाशक ‘मिकाशा’ क्रिस्टल क्रॉप साइंस के नवीन उपक्रम सफायर क्रॉप साइंस में ऊर्जा मातृ संस्था क्रिस्टल की है, परन्तु सफायर की रणनीति, टीम और चैनल एक अलग रूप में, विविध उत्पादों, सेवाओं के साथ किसानों की सेवा में प्रस्तुत है। सफायर ने वर्ष 2017 से महाराष्ट्र में पेस्टीसाइड विपणन का कार्य प्रारम्भ किया था। वर्ष 2022 से कम्पनी ने अपनी विस्तारीकरण की नीति के तहत नार्थ और सेन्ट्रल इंडिया के सात राज्यों पर फोकस किया है।

सफायर क्रॉप साइंस के मुख्य कार्यकारी अधिकारी श्री अनिल निरवाल ने कृषक जगत से विशेष मुलाकात में बताया कि सफायर ने सोयाबीन के लिये नया खरपतवारनाशक मिकाशा लांच किया है। मिकाशा सोयाबीन के खरपतवारों को नष्ट कर उत्पादन में वृद्धि करता है। उन्होंने कहा कि धान, सोयाबीन और सब्जियों के लिये 3 और नये उत्पाद प्रस्तुत करने की योजना है।

श्री निरवाल ने कृषक जगत को बताया कि कम्पनी के पास 50 से अधिक उत्पादों की विस्तृत श्रृंखला है। म.प्र. में 6 सेल्स टेरेटरी के लगभग 140 डिस्ट्रीब्यूटर किसानों तक सफायर के उत्पाद पहुँचायेंगे। इन डिस्ट्रीब्यूटर्स को बेहतर सेवा देने के लिये कम्पनी ने 3 रीजनल मैनेजर और एक जोनल बिजनेस हेड के नेतृत्व में टीम को नियुक्त किया है। कृषि आदान के क्षेत्र में दीर्घ अनुभवी श्री निरवाल के अनुसार सफायर का उद्देश्य अंतर्राष्ट्रीय स्तर के उत्पाद एवं सेवाएं किसानों तक पहुंचाना है। कम्पनी पेस्टीसाइड्स और सेवाओं में हो रही तकनीकी क्रांति को किसानों तक पहुँचायेगी। सफायर नये टेक्निक और टेक्नालॉजी से निर्मित कृषि उपयोगी दवाओं की विस्तृत श्रृंखला उपलब्ध करायेगी। जिससे कृषि क्षेत्र के लिये कार्य कर रहे सभी हितधारकों को लाभ पहुंचेगा।

मिकाशा की विशेषताएं

  • सोयाबीन में चौड़ी पत्ती एवं सकरी पत्ती दोनों तरह के खरपतवारों पर पूर्ण नियंत्रण
  • व्यापक असरकारक है 
  • फसल को कोई नुकसान नहीं

महत्वपूर्ण खबर: ब्रीडर सीड के दामों में 10 प्रतिशत तक की बढ़ौत्री

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.