सीएनएच इंडस्ट्रियल (इंडिया) द्वारा आगे बढ़ कर कोविड-19 के मामलों से निपटने के प्रयास जारी

Share

19 मई 2021, नई दिल्ली: पूरे देश में कोविड-19 महामारी की दूसरी लहर को देखते हुए सीएनएच इंडस्ट्रियल ने कोविड-19 की रोकथाम के कई कदम उठाये और इस कठिन समय में अपने कर्मचारियों और उनके परिवारों के साथ खड़ा रहने को प्रतिबद्ध है। महामारी की शुरुआत से ही कम्पनी अपने ग्रेटर नोएडा, पुणे, पीथमपुर प्लांट और गुड़गांव कॉर्पोरेट कार्यालय में आवश्यक सावधानियां बरत रही है जैसे कि दैनिक तापमान की जांच, सामाजिक दूरी बनाए रखना, अरोग्य सेतु ऐप पर अनिवार्य पंजीकरण, कम्पनी के सभी केंद्रों पर मास्क और दस्ताने के साथ-साथ आंखों की सुरक्षा के उपकरणों का प्रावधान करना और फिर दैनिक स्वच्छता में नियमितता बरतना।

हालांकि ये कदम भारत के सभी जिम्मेदार व्यवसाय संगठन आमतौर पर लेते हैं लेकिन सीएनएच इंडस्ट्रियल इस लिहाज से खास है कि इसने कर्मचारियों के स्वास्थ्य और सुरक्षा के लिए कई अतिरिक्त महत्वपूर्ण उपाय किए हैं:

  • कोविड संक्रमण के प्रति सभी कर्मचारियों और उनके निकटतम परिवार जनों के लिए बीमा – जांच में पाॅजिटिव या घर पर क्वारंटीन सभी कर्मचारियों को 50,000 की आर्थिक सहायता दी जाती है। सीएनएच इंडस्ट्रियल इंडिया के सभी कर्मचारियों और उनके परिवारों के लिए एक होम केयर कवरेज भी है, जिसके तहत घर पर रिकवर करते परिवार के प्रत्येक सदस्य को 20,000 तक का कवर है।
  • सीएनएच इंडस्ट्रियल ने अपोलो हॉस्पिटल्स से करार किया जिसके तहत कर्मचारियों के 24/7 चिकित्सा परामर्श हेल्पलाइन नंबर दिया गया है।
  • कोविड-19 जांच में पाॅजिटिव आए सभी कर्मचारियों का ट्रैक रखने के लिए एक विशेष कार्य बल का गठन किया गया है। जांच में किसी के पाॅजिटिव आने पर यह टास्क फोर्स ज़रुरत पड़ने पर अस्पताल से संपर्क कर बेड (आईसीयू और सामान्य दोनों) और दवा, ऑक्सीजन, आदि उपलब्ध कराने की तुरंत व्यवस्था करता है।
  • कम्पनी ने चीन और इटली के वैश्विक साझेदारों के सहयोग से ऑक्सीजन कंसेंट्रेटर प्राप्त करने का काम किया है। कर्मचारियों की आवश्यकताओं के अनुसार ये उपलब्ध कराए गए हैं और टास्क फोर्स इनकी नियमित निगरानी रखता है।
  • कर्मचारियों को घर से काम करने का विकल्प दिया गया है और केवल आवश्यक हो तो ही कार्यालय/ प्लांट में उपस्थिति दर्ज करने कहा जाता है।
  • कम्पनी सभी सरकारी दिशानिर्देशों का पूरी तरह पालन करती है जिसमें 50 प्रतिशत उपस्थिति का मानक भी शामिल है।
  • विभाग प्रमुख दैनिक आधार पर कर्मचारियों से सीधे संपर्क में हैं और कर्मचारी और या उनके परिवार के स्वास्थ्य संबंधी किसी समस्या की सूचना सीधे प्रबंधन देते हैं।
  • कर्मचारियों के बीच सामाजिक दूरी के लिए फैक्ट्री परिसर में कम्पनी के कोविड मार्शल तैनात हैं। कैंटीन के अंदर भी सामाजिक दूरी का ध्यान रखा जाता है।

सीएनएच इंडस्ट्रियल, इंडिया और सार्क के कंट्री मैनेजर, रौनक वर्मा ने उपरोक्त कदमों के बारे में कहा, ‘‘सीएनएच इंडस्ट्रियल में हमारे लिए सबसे पहले और सबसे महत्वपूर्ण कर्मचारियों का स्वास्थ्य और सुरक्षा है। हम ने अपने कार्मिकों के मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य की रक्षा के सभी उपाय किए हैं। हमारी नेतृत्व टीम और मेरे द्वारा हमारे कार्य स्थलों की स्थिति की रियल टाइम सीधी निगरानी की जाती है ताकि यदि कोई कर्मचारी बीमार हो और अस्पताल में भर्ती हो तो समय से सेवा और सहायता दी जाए।’’

‘‘वैक्सीन जैसे ही उपलब्ध होंगे हम अपने सभी कर्मचारियों के लिए वैक्सीन की व्यवस्था करने को प्रतिबद्ध हैं। यह काम पूरा होने के बाद हम कार्य क्षेत्र में आने के लिए वैक्सीनेशन होना अनिवार्य करने का लक्ष्य रखते हैं ताकि हमारे परिसर सुरक्षित रहें। इस बीच हम कर्मचारियों को वायरस से बचाने के मोर्चे पर सबसे आगे रहेंगे और इसमें सरकार की मदद करते रहेंगे।” उन्होंने बताया।

सीएनएच इंडस्ट्रियल की गई अतिरिक्त पहल

कोविड-19 से राहत के लिए सीएसआर के प्रयास – कोविड-19 से राहत के लिए सीएनएच इंडस्ट्रियल ने सीएसआर के तहत भी कुछ पहल की है। कम्पनी ने ग्रेटर नोएडा, पुणे, पीथमपुर और गुड़गांव जिला प्रशासन को एक लाख सर्जिकल मास्कों और हैंड सैनीटाइजर की 50,000 बोतलों (100 मिली) का योगदान दिया हैं जो सरकार द्वारा निर्धारित अत्यावश्यकता के आधार पर अस्पतालों और फ्रंटलाइन वर्करों में बांटने के लिए हैं। सीएसआर के तहत जांच के किट भी दिए गए ताकि अस्पतालों के साथ-साथ स्वास्थ्य कर्मियों की सेवा क्षमता बढ़े। यह समुदाय सेवा में बड़ा योगदान है।

सॉलिडरिटी सैनिटाइजेशन प्रोजेक्ट: सीएनएच इंडस्ट्रियल ने ट्रैक्टर और स्प्रेयर के छह सेट का योगदान दिया जो मुख्यतः स्वच्छता के काम में लगे नगर निगमों के लिए हैं। ये निगम आमतौर पर कोविड-19 की रोकथाम हेतु ट्रैक्टर और ट्रैक्टर पर लगे स्प्रेयर से सड़कों, आसपास के क्षेत्रों और आवासीय क्षेत्रों को सैनीटाइज़ करते हैं। इससे लाभान्वित स्थान हैं: ग्रेटर नोएडा (3 स्थान – नगर पालिका परिषद दादरी, नगर पंचायत रबुपुरा, यमुना एक्सप्रेसवे प्राधिकरण), गुड़गांव (1 स्थान – गुरुजल सोसायटी, मिनी सचिवालय), पुणे (1 स्थान – खेड़ नगर निगम, चाकन, पुणे) , और पीथमपुर (1 स्थान – नगर पालिका परिषद, पीथमपुर, धार)।

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *