समस्या – समाधान (Farming Solution)

अनाज भंडारण की सस्ती तकनीक क्या है

Share

28 फरवरी 2023,  भोपाल । अनाज भंडारण की सस्ती तकनीक क्या है  

समाधान: अनाज में नमी का प्रतिशत- किसान भाई इस बात को अच्छी तरह से जान ले कि खाद्यान्न पदार्थ में कीड़ों की प्रकोप के लिए एक निश्चित प्रतिशत में नमी होना आवश्यक है। अनाज भंडारण के समय 8-10 प्रतिशत या इससे कम कर देने पर खपरा बीटल को छोडक़र किसी भी अन्य कीट का आक्रमण नहीं होता। खपरा बीटल (टोगोडरमा ग्रेनेरियम) कीट 2 प्रतिशत नमी तक भी जिन्दा रहता है, बड़े गोदामों में नमी रोधी संयंत्र लगाना चाहिए। जिससे बरसात में भी नमी नहीं बढ़े। उपलब्ध आक्सीजन- अनाज वायुरोधी भंडारगृह में रखना चाहिए। बीज को जीवित रखने के लिए केवल 1 प्रतिशत आक्सीजन की आवश्यकता होती है तथा कीटों को भी श्वसन हेतु आक्सीजन की आवश्यकता होती है। खपरा बीटल 16.8 प्रतिशत से कम आक्सीजन होने पर आक्रमण नहीं करता है। अर्थात् भंडारण में आक्सीजन कम करके कीड़ों की रोकथाम की जा सकती है। आक्सीजन का प्रसार होने पर कीट अधिक लगते है। तापक्रम- नमी की तरह कीटों के विकास के लिए एक निश्चित तापक्रम की आवश्यकता होती है जो कीटों के अधिक विकास के लिए 28 से 32 डिग्री सेन्टीग्रेड होती है। तापक्रम के पूर्ति के लिए कुछ कीट हीट स्पाट निर्माण करते हैं, इसे रोकने के लिए भंडार गृहों में या तो वायु प्रवेश करा दें या फिर अनाज को उलट-पुलट कर दें। कीड़ों को मार कर उनकी संख्या घटा दें।

महत्वपूर्ण खबर: स्वाईल हेल्थ कार्ड के आधार पर ही फर्टिलाइजर डालें

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *