गेहूं की जाति 8498 लगाना चाहता हूं क्या बुआई की जा सकती है, कितना खाद, कितना पानी दिया जाये।

समस्या- गेहूं की जाति 8498 लगाना चाहता हूं क्या बुआई की जा सकती है, कितना खाद, कितना पानी दिया जाये।

समाधान- आपने गेहूं की जाति एच.आई. 8498 (मालव शक्ति) लगाने की बात पूछी है। वास्तव में यह जाति पूर्ण सिंचित और समय से बुआई अर्थात् 30 नवम्बर तक ही लगाने के लिए सिफारिश की गई है फिर भी यदि यही बीज आपके पास है तो आप इसका उपयोग कर सकते हैं। अचानक कम समय में दूसरा उपयुक्त बीज लगने में और विलम्ब हो सकता है। यह जाति भी 115-120 दिनों में पक जाती है। वैसे 25 दिसम्बर तक की अवधि में कृषक जीडब्ल्यू. 175, डी.एल. 758-2 सी (विदिशा), एचआई 1454 (आभा), एचआई 1418 (चंदोसी), जेडब्ल्यू 4018 इत्यादि जातियों को लगा सकते हैं। आमतौर पर कृषकों के पास लोक-1 जाति उपलब्ध रहती है। इसे लगाने से कंडुआ रोग की आशंका बनी रहती है। ध्यान रहे यदि इसे ही लगाना हो तो बीज का उपचार वीटावैक्स फफूंदनाशी से करना अनिवार्य होगा।

– जे.पी. सविता, डबरा

समस्या-गेहूं की फसल में चिरैया बाजरा हर साल आता है इसके विषय में बतायें तथा गेहूं से अलग पहचान क्या है यह भी बतायें।
 
समाधान- 
गेहूं के मामा के नाम से जाना-पहचाना यह पौधा गेहूं के पौधे जैसा ही रहता है जो भारी समस्या खड़ी करता है। इसका आगमन गेहूं के बीज के साथ मिल कर हुआ। गेहूं बोने में भी साथ में बुआ  जाता है। गेहूं का अंकुरण 4-5 दिन में हो जाता इसके बीज 15-20 दिनों में अंकुरित हो जाते हैं। पौधों की ऊंचाई 100-110 से.मी. होती है। एक पौधे में 3000 तक बीज हो जाते हैं। गेहूं के पौधों से इसे निम्न आधार पर अलग पहचाना जा सकता है।

चिरैया बाजरा-    

  • 50 दिन के पौधों में नीचे की गांठ का रंग हल्का लाल होता है।
  • पत्तियों का रंग हल्का हरा होता है।
  • कल्ले गुच्छों में निकलते हैं।
  • एक पौधा 2-3 हजार बीज बनाता है।

गेहूं-

  • गेहूं के नीचे की गांठ पीलापन लिये हुए रहती है।
  • पत्तियों का रंग गहरा हरा रहता है।
  • कल्ले सीधे निकलते हैं।
  • एक पौधा 100 के करीब बीज बनाता है।

  – सुन्दरलाल चौकसे, रायसेन

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *