छत्तीसगढ़ में  स्वावलंबी गौठानों ने स्वयं ख़रीदा 16 करोड़  का गोबर

07 जुलाई 2022, रायपुर: छत्तीसगढ़ में  स्वावलंबी गौठानों ने स्वयं ख़रीदा 16 करोड़  का गोबर – छत्तीसगढ़ सरकार की फ्लैगशिप योजनाओं में से महत्वपूर्ण सुराजी गांव योजना के गरूवा घटक के तहत अब तक राज्य में निर्मित एवं सक्रिय रूप से

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें

गोबर से बनने लगा प्राकृतिक पेंट और पुट्टी

6 जून 2022, रायपुर: गोबर से बनने लगा प्राकृतिक पेंट और पुट्टी – छत्तीसगढ़ के  मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल की गांवों को स्वावलंबी और उत्पादक केन्द्र के रूप में विकसित करने की मंशा तेजी से मूर्तरूप लेने लगी है। सुराजी गांव

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें

बछड़ों के आहार में खीस का महत्व एवं आहार प्रबंधन

डॉ. प्रमोद शर्मा, मो. : 9754306792सहायक प्राध्यापक पशुचिकित्सा एवं पशुपालन महाविद्यालय, रीवा 4 जुलाई 2022, बछड़ों के आहार में खीस का महत्व एवं आहार प्रबंधन – पशुपालन व्यवसाय की सफलता और भविष्य में उसका विकास बहुत हद तक नवजात बछड़ों

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें
Advertisements

बेंगलुरु के श्रीनिवास गधे के दूध से कमा रहे 5 हज़ार रुपये प्रति लीटर

29 जून 2022, बेंगलुरु । बेंगलुरु के श्रीनिवास गधे के दूध से कमा रहे 5 हज़ार रुपये प्रति लीटर – कृषि उद्योग एक ऐसा क्षेत्र है जहां घर बैठे काम नहीं किया जा सकता। इसके लिए हर रोज मानसिक और शारीरिक

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें

स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद है कड़कनाथ

एटिक भवन में कड़कनाथ चूजा वितरण कार्यक्रम 25 जून 2022, ग्वालियर । स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद है कड़कनाथ – राजमाता विजयाराजे सिंधिया कृषि विश्वविद्यालय के निदेशालय विस्तार सेवाएं अंतर्गत संचालित कृषि तकनीकी सूचना केन्द्र (एटिक) पर फार्मर फर्स्ट परियोजना अंतर्गत कड़कनाथ

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें

कुक्कुट पालन में पेयजल का महत्व

डॉ. नरेश कुरेचिया , डॉ. कविता रावत डॉ. अंचल केशरी, डॉ. आर के जैनडॉ. अशोक कुमार पाटिलपशुचिकित्सा एवं पशुपालन महाविद्यालय, महू   23 जून 2022,  कुक्कुट पालन में पेयजल का महत्व – कुक्कुट के लिए जल सबसे आवश्यक (महत्वपूर्ण) पोषक

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें
Advertisements

कैनाइन डिस्टेम्पर वायरस से कुत्तों में संक्रामक बीमारी

डॉ. स. दि. औदार्य (सहा. प्राध्यापक) डॉ. नी. श्रीवास्तव (सह. प्राध्यापक) डॉ. अं. कि. निरंजन (सहा. प्राध्यापक), पशुचिकित्सा सूक्ष्मजीव-विज्ञान विभाग, पशुचिकित्सा विज्ञान एवं पशुपालन महाविद्यालय, नानाजी देशमुख पशुचिकित्सा विज्ञान विश्वविद्यालय, कुठुलिया, रीवा   18 जून 2022, कैनाइन डिस्टेम्पर वायरस से

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें

मत्‍स्‍याखेट, विक्रय व  परिवहन पर 16 जून से 15 अगस्‍त तक प्रतिबंध

15 जून 2022, भोपाल । मत्‍स्‍याखेट, विक्रय व  परिवहन पर 16 जून से 15 अगस्‍त तक प्रतिबंध – मध्‍यप्रदेश नदीय मत्‍स्‍योद्योग अधिनियम 1972 की धारा-3(2) के अंतर्गत 16 जून 15 अगस्‍त 2022 तक की अवधि में मत्‍स्‍याखेट निषेध किया गया

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें

16 जून से 15 अगस्त तक मत्स्याखेट प्रतिबंध

3 जून 2022, भोपाल । 16 जून से 15 अगस्त तक मत्स्याखेट प्रतिबंध – मत्स्य प्रजनन काल को ध्यान में रखते हुए 16 जून से 15 अगस्त 2022 तक प्रदेश में मत्स्याखेट  निषेध किया गया है। मछली पालन विभाग ने आदेश

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें

सरकार का लक्ष्य पशुधन क्षेत्र का विकास : श्री रूपाला

75 उद्यमियों के सम्मेलन और 75 देशी पशुधन नस्लों की प्रदर्शनी 2  जून 2022, नई दिल्ली । सरकार का लक्ष्य पशुधन क्षेत्र का विकास : श्री रूपाला – केंद्रीय मत्स्य पालन, पशुपालन और डेयरी मंत्री श्री पुरुषोत्तम रूपाला ने नई

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें