दिसंबर तक 1 लाख मछुआ क्रेडिट कार्ड बनाने का लक्ष्य

Share

10 नवंबर 2021, इंदौर । दिसंबर तक 1 लाख मछुआ क्रेडिट कार्ड बनाने का लक्ष्य – जल संसाधन, मछुआ कल्याण और मत्स्य विकास मंत्री श्री तुलसी राम सिलावट ने गत दिनों भोपाल स्थित कार्यालय में हुई प्रदेश स्तरीय बैठक में कहा कि आने वाला एक साल विकास कार्यों के लिए महत्वपूर्ण है।  इसमें मछली पालन और उत्पादन को उच्चतम स्तर पर ले जाना है। सभी अधिकारी प्राथमिकता से काम करें और दिसंबर, 2021  तक एक लाख मछुआरों के क्रेडिट कार्ड बनाए जाएँ। मार्च 22 तक  प्रशिक्षित सभी मछुआरों को क्रेडिट कार्ड उपलब्ध कराए जाएँ।

श्री सिलावट ने कहा कि मछुआरों की आय में वृद्धि के लिए  मछली पालन में नवाचार को अपनाया जाय और नई तकनीक से मछली पालन किया जाए। मछुआरों को प्रशिक्षित कर उन्हें बाज़ार  भी उपलब्ध कराया जाए। बाजार की मांग  के अनुसार मछली उत्पादन किया जाए, जिससे मछुआरों की आय और जीवन स्तर को बेहतर किया जा सके।सभी जिले प्रतिस्पर्धा के साथ काम करें । मत्स्य विभाग के अधिकारी मछली उत्पादन बढ़ाने के लिए अपना सर्वोत्तम देवें।सबसे अच्छा काम करने वाले अधिकारियों को प्रदेश स्तर पर सम्मानित किया जाएगा। उन्होंने मछुआ क्रेडिट कार्ड बनाने के  निर्देश दिए और कहा प्रदेश के सभी जिलों में  बैंको में विशेष शिविर लगाए जाएँगे। शुक्रवार को विशेष कैंप लगाए जाएँगे।यह सुनिश्चित करें कि मछुआ समिति को मछुआरे ही संचालित करें।अक्रियाशील समितियों को हटाया जाए। समितियों की शिकायतों पर कार्रवाई कर उसका त्वरित निराकरण किया जाए।

मत्स्य विकास मंत्री ने विभाग द्वारा संचालित योजनाओं का लाभ दिलाने के लिए अधिकारियों को मछुआ समितियों के साथ बैठक करने और मछुआ क्रेडिट कार्ड बनानें के लिए मछुआरों के घर-घर सर्वे करने के निर्देश दिए। इसके अलावा सभी मछुआ समितियों के सदस्यों में क्रेडिट कार्ड से मिलने वाले लाभ के सम्बन्ध में जागरूकता बढ़ाएं  मंत्री श्री सिलावट ने सीहोर, राजगढ़, रायसेन और विदिशा जिलों में मत्स्य बीज उत्पादन कम होने पर नाराजगी व्यक्त की और उत्पादन तथा प्रदेश में हेचरी को बढ़ाने के निर्देश भी दिए। भोपाल के पड़ोस के सभी जिलों में एक-एक नई हेचरी बनाने के निर्देश भी दिए। मंत्री श्री सिलावट ने कहा इस वर्ष मत्स्य उत्पादन 43 हजार टन है, इसको 50 हजार टन तक बढ़ाया जाए। आपने प्रदेश में  मछली उत्पादन बढ़ाने के लिए नई योजना बनाने हेतु सुझाव विभाग के संचालक को भेजने के निर्देश दिए, ताकि मछली उत्पादन बढ़ाकर मछुआरों की आर्थिक उन्नति की जा सके।  इस बैठक में संचालक श्री भारत कुशवाह, प्रबंध संचालक श्री पुरुषोत्तम धीमान और विभाग के अधिकारी उपस्थित रहे।

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.