स्वाईल हेल्थ कार्ड के मुताबिक खाद डालें किसान

व्हाट्सएप या फेसबुक पर शेयर करने के लिए नीचे क्लिक करें

कृषि अधिकारियों के दल ने किया भ्रमण

होशंगाबाद। कृषि मंत्रालय भारत सरकार और प्रदेश के कृषि विभाग के अधिकारियों के दल ने गत दिनों सिवनी मालवा के ग्राम बनाडा के किसान अशोक पटेल के कृषि फार्म और स्वॉईल हेल्थ कार्ड का निरीक्षण किया। कृषि मंत्रालय दिल्ली के एडीओ डॉ. गजेन्द्र सिंह, कृषि महाविद्यालय जबलपुर के जैविक कृषि वैज्ञानिक डॉ. वी.के. वर्मा, म.प्र. के एडिशनल डायरेक्टर श्री बीएम सहारे, दलहन विकास निदेशालय के सहायक निदेशक डॉ. ए.के. शिवहरे, जॉइंट डायरेक्टर श्री बीएल बिलैया, कृषि उप संचालक श्री जितेन्द्र सिंह, एडीए, श्री योगेंद्र सिंग बेड़ा, एडीए श्री कास्दे, एसएडीओ कृषि श्री संजय पाठक के दल ने किसान अशोक पटेल के खेत में जैविक खेती और प्राकृतिक खेती का निरीक्षण कर किसान से खेती के संबंध में जानकारियां ली। अंतरवर्तीय खेती का निरीक्षण किया जिसमें हल्दी और अरहर की फसल का निरीक्षण, गेहूं जी डब्लू 3211, सुजाता और चने की आरबीजी 202 व 201 उन्नत किस्म को देखा। साथ ही 6 घन मीटर के बायोगैस संयंत्र का निरीक्षण किया। किसान द्वारा खेती में नये प्रयोगों की दल के सदस्यों ने सराहना की।
अपर संचालक कृषि श्री सहारे ने बताया कि भारत सरकार के दल ने होशंगाबाद जिले के 6 विकासखंडों के 10 गांव का भ्रमण किया इसमें डोगरी, बनाडा, रमपुरा ढाबाकला, सिमरौधा, ढाडिया, सिलारी, रानी पिपरिया, खाड़ा देवरी एवं सेमरीहरचंद शामिल है। उन्होंने बताया कि दल ने फसल स्थिति देखकर स्वाईल हेल्थ कार्ड की जानकारी ली तथा कृषकों से अनुशंसा के मुताबिक उर्वरक व्यवस्था करने को कहा।
अपर संचालक ने बताया कि विकासखंड स्तर पर मृदा नमूना विश्लेषण के लिये प्रयोगशाला भवन बनाए जा रहे हैं। अब तक लगभग 229 भवन बनकर तैयार हो गए है।

व्हाट्सएप या फेसबुक पर शेयर करने के लिए नीचे क्लिक करें
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

five × three =

Open chat
1
आपको यह खबर अपने किसान मित्रों के साथ साझा करनी चाहिए। ऊपर दिए गए 'शेयर' बटन पर क्लिक करें।