देश में दलहनों का आवश्यकता से अधिक उत्पादन हो : श्री तोमर

व्हाट्सएप या फेसबुक पर शेयर करने के लिए नीचे क्लिक करें

विश्व दलहन दिवस

नई दिल्ली/भोपाल। विश्व दलहन दिवस के अवसर पर गत 10 फरवरी को देशभर में कार्यक्रमों का आयोजन किया गया। भोपाल में क्लाईमेट स्मार्ट क्राप दलहनी फसलों के विकास विषय पर तीन दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय संगोष्ठी हुई। नई दिल्ली में एपीडा द्वारा आयोजित कार्यक्रम में केंद्रीय कृषि मंत्री श्री नरेंद्र सिंह तोमर शामिल हुए। देश के अन्य प्रदेशों में भी विश्व दलहन दिवस मनाया गया।

संयुक्त राष्ट्र विश्व दलहन दिवस समारोह का नई दिल्ली में उद्घाटन करते हुए, केंद्रीय कृषि और किसान कल्याण मंत्री श्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने कहा कि देश में दलहनों का उत्पादन बढ़ाने में सरकार की पहलों से सकारात्मक परिणाम प्राप्त हुए हैं और सरकार इसके उत्पादन के लिए किसानों को लाभकारी कीमत प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध है। श्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने कहा कि कृषि और ग्रामीण विकास क्षेत्रों के लिए 3 लाख करोड़ रु. के बजटीय आवंटन से यह पता चलता है कि सरकार इस क्षेत्र पर मुख्य रूप से ध्यान दे रही है। उन्होंने कहा कि कुछ साल पहले कृषि क्षेत्र का बजट 27 हजार करोड़ रुपये था, किंतु सरकार ने वित्त वर्ष 2020-21 में 1.5 लाख करोड़ रुपये से अधिक आवंटित किये हैं।

श्री तोमर ने कहा कि आवश्यकता से अधिक खाद्यान्न उत्पादन का लक्ष्य हासिल करने के बाद, देश दलहन की खेती में आत्मनिर्भर बन रहा है। फसल वर्ष 2018-19 में भारत ने 22 मिलियन टन दलहन का उत्पादन किया और अगले वर्ष के लिए 26.30 मिलियन टन का लक्ष्य रखा गया है।

विश्व दलहन दिवस कार्यक्रम के आयोजन में अग्रणी भूमिका निभाने के लिए नेफेड को बधाई देते हुएए श्री तोमर ने कहा कि सरकार ने पिछले पांच वर्षों में 63 लाख टन दलहन की खरीद की है, जिससे लाखों किसान लाभान्वित हुए हैं।

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए, नीति आयोग के सदस्य डॉ. रमेश चंद ने कहा कि दालों के उत्पादन को बढ़ाने में सबसे बड़ी भूमिका देश के अनुसंधान एवं विकास द्वारा निभाई जानी है, क्योंकि मूल्य कारक की तुलना में उत्पादन में वृद्धि लाने में प्रौद्योगिकी एक प्रमुख इंजन है। ग्लोबल पल्स कन्फेडरेशन (जीपीसी) के सहयोग से नेफेड द्वारा इस वर्ष इस कार्यक्रम का आयोजन किया गया था। त्रिपुरा के खाद्य, नागरिक आपूर्ति और उपभोक्ता मामलों के मंत्री श्री मनोजकांति देब, ग्लोबल पल्स कन्फेडरेशन चेयरपर्सन सुश्री सिंडी ब्राउन, नेफेड के अध्यक्ष डॉ. बिजेन्द्र सिंह और विभिन्न देशों के प्रतिनिधि और केंद्र तथा राज्य सरकारों के अधिकारी और दलहन उत्पादन और बिक्री से जुड़े लोग बड़ी संख्या में इस कार्यक्रम में मौजूद थे। इस अवसर पर श्री तोमर ने नेफेड जैविक दलहनों का फैमिली पैक लांच किया।

tomarविश्व दलहन दिवस के अवसर पर भोपाल में आयोजित अन्तर्राष्ट्रीय कार्यशाला में राष्ट्रीय कृषि अखबार कृषक जगत का अवलोकन करने के पश्चात चर्चा करते हुए राष्ट्रीय दलहन अनुसंधान केन्द्र कानपुर के निदेशक डॉ. एन.पी. सिंह, ज.ने.कृ.वि.वि. जबलपुर एवं राजमाता सिंधिया कृ.वि.वि. ग्वालियर के पूर्व कुलपति डॉ. व्ही.एस. तोमर एवं कृषक जगत के अतुल सक्सेना।

व्हाट्सएप या फेसबुक पर शेयर करने के लिए नीचे क्लिक करें
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

eight + 9 =

Open chat
1
आपको यह खबर अपने किसान मित्रों के साथ साझा करनी चाहिए। ऊपर दिए गए 'शेयर' बटन पर क्लिक करें।