उत्तर प्रदेश में मू्ल्य समर्थन योजना में किसानों से धान की खरीद तेजी से

व्हाट्सएप या फेसबुक पर शेयर करने के लिए नीचे क्लिक करें

21 अक्टूबर 2020, लखनऊ। उत्तर प्रदेश में मू्ल्य समर्थन योजना में किसानों से धान की खरीद तेजी से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देशों के क्रम में प्रदेश में मूल्य समर्थन योजना के अन्तर्गत किसानों से धान की खरीद तेजी से की जा रही है। प्रथम चरण में पश्चिमी उत्तर प्रदेश में 01 अक्टूबर से प्रारम्भ हुई धान क्रय प्रक्रिया के अन्तर्गत सोमवार तक कुल 15845.99 मीट्रिक टन धान की खरीद की जा चुकी है। इसके सापेक्ष विगत वर्ष (2019-2020) के दौरान इस अवधि में 837.21 मी. टन धान की खरीद हुई थी। यह जनाकारी यहां देते हुए राज्य सरकार के प्रवक्ता ने बताया कि मुख्यमंत्री द्वारा खरीफ क्रय वर्ष 2020-2021 के अन्तर्गत धान क्रय के लिए समय से सभी इंतजाम करने के निर्देश दिए गए थे। उनके द्वारा यह भी सुनिश्चित करने के निर्देश दिए गए थे कि किसानों को अपनी उपज बेचने में कोई दिक्कत न हो और उन्हें सभी सहूलियतें उपलब्ध करायी जाएं।

महत्वपूर्ण खबर : खरगोन कपास मंडी में 4 हजार क्विंटल कपास की आवक

उल्लेखनीय है कि पश्चिमी उत्तर प्रदेश के लखनऊ सम्भाग के जनपद लखीमपुर, हरदोई, सीतापुर तथा बरेली, मुरादाबाद, मेरठ, सहारनपुर, आगरा, अलीगढ़, झांसी मण्डलों में 01 अक्टूबर, 2020 से 31 जनवरी, 2021 तथा पूर्वी उत्तर प्रदेश के लखनऊ सम्भाग के जनपद लखनऊ, रायबरेली, उन्नाव तथा चित्रकूट, कानपुर, अयोध्या, देवीपाटन, बस्ती, गोरखपुर, आजमगढ़, वाराणसी, विन्ध्यांचल एवं प्रयागराज मण्डलों में 15 अक्टूबर, 2020 से 28 फरवरी, 2021 तक क्रय होगी। मुख्यमंत्री के निर्देशों के क्रम में धान खरीद के लिए खाद्य विभाग की विपणन शाखा, एसएफसी, पीसीएफ, पीसीयू, मण्डी परिषद उप्र, एनसीसीएफ, नैफेड, भारतीय खाद्य निगम, उप्र उपभोक्ता सहकारी संघ (यूपीएसएस) एवं उप्र राज्य कृषि एवं औद्योगिक निगम (यूपी एग्रो) द्वारा सम्पूर्ण प्रदेश में कुल 4,000 क्रय केन्द्र स्थापित किए जाएंगे। यह सभी क्रय एजेन्सियां अपनी संस्था के क्रय केन्द्रों के अतिरिक्त पंजीकृत सोसाइटी व मल्टी स्टेट को-आपरेटिव सोसाइटी, एफपीओ-एफपीसी को सम्बद्ध कर उनके माध्यम से भी धान क्रय करेंगी।

व्हाट्सएप या फेसबुक पर शेयर करने के लिए नीचे क्लिक करें
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

14 + one =

Open chat
1
आपको यह खबर अपने किसान मित्रों के साथ साझा करनी चाहिए। ऊपर दिए गए 'शेयर' बटन पर क्लिक करें।