अब हरियाणा का कृषि एवं उद्यान विभाग बीएससी, एमएससी और पीएचडी छात्रों को देगा इंटर्नशिप

Share

10 सितम्बर 2022, चंडीगढ़: अब हरियाणा का कृषि एवं उद्यान विभाग बीएससी, एमएससी और पीएचडी छात्रों को देगा इंटर्नशिप – हरियाणा सरकार का कृषि एवं उद्यान विभाग अब बीएससी, एमएससी और पीएचडी छात्रों को इंटर्नशिप देगा। इस इंटर्नशिप के लिए छात्रों को विभाग द्वारा स्टाइपेंड भी दिया जाएगा। मेरिट के आधार पर प्रत्येक विभाग में बीएससी के लिए 10, एमएससी एवं पीएचडी के लिए 5-5 छात्रों का इंटर्नशिप कार्यक्रम के लिए चयन किया जाएगा और विभिन्न डिविजनों में कार्य दिया जाएगा। इंटर्नशिप पूरी होने पर छात्रों को प्रमाण पत्र भी दिए जाएंगे। इसकी जानकारी बुधवार को हरियाणा के कृषि एवं किसान कल्याण विभाग की अतिरिक्त मुख्य सचिव डॉ. सुमिता मिश्रा ने दी।

डॉ. सुमिता मिश्रा ने बताया कि इस योजना के तहत हिसार के चौधरी चरण सिंह कृषि विश्वविद्यालय, करनाल के महाराणा प्रताप बागवानी विश्वविद्यालय एवं हरियाणा में स्थित सेंट्रल इंस्टीट्यूट, हरियाणा के सभी छात्रों को हरियाणा के कृषि विभाग एवं बागवानी विभाग में इंटर्नशिप करने का अवसर मिलेगा। इसके तहत कृषि एवं बागवानी बागवानी विभाग के क्षेत्र में बीएससी, एमएससी और पीएचडी डिग्री के छात्रों को पारस्परिक लाभ के लिए शामिल किया जा रहा है। इसके अलावा प्रशिक्षुओं को इंटर्नशिप के दौरान विभागीय कार्यक्रमों, कार्यप्रणाली, तकनीक केंद्रों, किसानों से मिलने का अवसर एवं उनसे बातचीत और कृषि एवं बागवानी फसलों के तकनीकी ज्ञान की जानकारी जानने का अवसर प्राप्त होगा|

डॉ. सुमिता मिश्रा ने कहा कि विभाग से प्राप्त इंटर्नशिप का यह अनुभव छात्रों के भविष्य में काफी मददगार साबित होगा। यह इंटर्नशिप न तो कोई नौकरी है और न ही विभागों में नौकरी के लिए ऐसा कोई आश्वासन है। इसके लिए संबंधित छात्र ऑनलाइन कृषि विभाग की बेवसाइट https://agriharyana.gov.in व उद्यान विभाग की वेबसाइट https://hortharyana.gov.in पर दिए गए इंटर्नशिप के लिंक पर जाकर आवेदन कर सकते हैं। इसके अलावा agriharyana2009@gmail.com एवं horticulture@hry.nic.in पर अपना प्रार्थना पत्र व बॉयोडाटा भेज सकते हैं।

यह होगी इंटर्नशिप की अवधि

डॉ. सुमिता मिश्रा ने बताया कि इंटर्नशिप कार्यक्रम के तहत बीएससी छात्रों की इंटर्नशिप 4 सप्ताह की रहेगी जबकि कृषि एवं बागवानी क्षेत्र में एमएससी ओर पीएचडी के छात्रों के लिए इंटर्नशिप कार्यक्रम 8 से 12 सप्ताह का होगा। बीएससी के छात्र जिनकों विश्वविद्यालय द्वारा पहले ही 13,000 रूपये प्रतिमाह का स्टाईपेंड दिया जा रहा है, उनको केवल विभागों में काम के लिए इंटर्नशिप प्रोग्राम की सुविधा दी जाएगी। जबकि एमएससी छात्रों को 9,000 रूपये एवं पीएचडी छात्रों को स्टाइपेंड के रूप में 12,000 रूपये कृषि व बागवानी विभाग द्वारा दिए जाएंगे।

महत्वपूर्ण खबर: नया कीटनाशक वायेगो लॉन्च

(नवीनतम कृषि समाचार और अपडेट के लिए आप अपने मनपसंद प्लेटफॉर्म पे कृषक जगत से जुड़े – गूगल न्यूज़,  टेलीग्राम )

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.