जोबनेर कृषि विश्वविद्यालय में ‘एग्री एक्सपो-2022’ का उद्घाटन

Share

31 मार्च 2022, जयपुर । जोबनेर कृषि विश्वविद्यालय में ‘एग्री एक्सपो-2022’ का उद्घाटन मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत ने कहा कि हमारी सरकार ने जो कहा वो करके दिखाया है। राजस्थान देश का पहला राज्य है जिसने कृषि का अलग बजट पेश करने की घोषणा की थी। इस साल हमने अलग कृषि बजट पेश करते हुए इस क्षेत्र के लिए करीब 79 हजार करोड़ रूपये की धनराशि का प्रावधान किया है। आने वाले समय में हमारे किसान भाई कैसे खुशहाल बनें और उन्हें अपने उत्पादों की उचित कीमत कैसे मिले इस दिशा में कदम उठाए जा रहे हैं।

श्री गहलोत श्री कर्ण नरेन्द्र कृषि विश्वविद्यालय, जोबनेर में तीन दिवसीय हाईटेक एग्री एक्सपो-2022 (कृषि मेला) के उद्घाटन कार्यक्रम को मुख्य अतिथि के रूप में संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि हमने सिर्फ किसानों के हित की बात नहीं की बल्कि इस दिशा में कदम उठाए हैं। पिछले तीन साल में लिए गए हमारे फैसले दर्शाते हैं कि किसानों के कल्याण के लिए हमारी सरकार समर्पित भाव से प्रयास कर रही है।

श्री गहलोत ने कहा कि कोई भी व्यक्ति, समाज, संगठन अथवा संस्थान हो, उसकी साख कायम रहना बहुत जरूरी है। जोबनेर कृषि महाविद्यालय ने भी अपनी एक साख कायम की थी। इसी साख को देखते हुए जोबनेर से आए किसानों की मांग पर हमारी सरकार ने वर्ष 2013 में इसे राव साहब श्री कर्ण नरेन्द्र के नाम पर कृषि विश्वविद्यालय बनाने का फैसला किया। इसके साथ ही उसी वर्ष कोटा और जोधपुर में भी कृषि विश्वविद्यालय खोले गए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि कृषि विश्वविद्यालयों का यह प्रयास होना चाहिए कि उनके वहां हो रहे शोध कार्याें का लाभ किसान के खेतों तक कैसे पहुंचे। उन्होंने कहा कि खेत-खलिहान के साथ ही घर की छतों पर पानी की एक-एक बूंद कैसे बचाई जाए यह सभी को सोचना होगा। उन्होंने श्री कर्ण नरेन्द्र कृषि विश्वविद्यालय को फव्वारा सिंचाई एवं बूंद-बूंद सिंचाई के लाभ किसानों को समझाने की दिशा में कार्य करने को कहा। साथ ही, उम्मीद जताई कि तीन दिवसीय कृषि मेले का लाभ किसानों को मिलेगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में आधारभूत ढांचा मजबूत करने का कार्य किया जा रहा है। हमारी सरकार ने किसानों को 20 हजार करोड़ के कृषि ऋण बिना ब्याज के उपलब्ध कराए हैं। उन्होंने कहा कि किसानों को एक हजार रूपये प्रति माह बिजली बिलों में सब्सिडी दी जा रही है। इससे करीब साढ़े पांच लाख किसानों का बिजली बिल शून्य हो गया है।

कृषि मंत्री श्री कटारिया

कार्यक्रम में कृषि एवं पशुपालन मंत्री श्री लालचन्द कटारिया ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत ने जोबनेर को उपखण्ड कार्यालय, पंचायत समिति, ट्रोमा सेन्टर सहित कई सौगातें दी है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में करीब 60 कृषि महाविद्यालय खुल चुके हैं। पशु पालकों को सम्बल प्रदान करने के लिए इस वर्ष के बजट में मुख्यमंत्री दुग्ध उत्पादक सम्बल योजना के तहत दुग्ध उत्पादकों को 5 रूपये प्रति लीटर का अनुदान देने का निर्णय किया गया है।

प्रगतिशील किसानों का सम्मान

कार्यक्रम में प्रगतिशील किसान श्री भैरूराम जाट, श्री सीताराम यादव, श्री गंगाराम सेपट, श्री रणजीत सिंह जाट एवं श्री सुरेन्द्र अबाना को कृषि के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य के लिए प्रशस्ति-पत्र देकर सम्मानित किया गया।

श्री गहलोत ने इससे पहले फीता काटकर कृषि मेले का उद्घाटन किया। उन्होंने विश्वविद्यालय परिसर में लगी प्रदर्शनी का अवलोकन किया एवं परिसर में पौधा रोपा। उन्होंने फसलों पर छिडकाव के लिए काम आने वाले ड्रोन का भी शुभारम्भ किया और उसके बारे में भी जानकारी ली, साथ ही कृषि विश्वविद्यालय की स्मारिका का विमोचन किया।

मुख्यमंत्री ने कौशल विकास केन्द्र के नवनिर्मित भवन, उन्नत जैविक खेती प्रयोगशाला के नवनिर्मित भवन और अकादमिक ब्लॉक, श्री कर्ण नरेन्द्र कृषि व्यवसाय प्रबन्धन महाविद्यालय के नवनिर्मित भवन का उद्घाटन किया। साथ ही कृषि महाविद्यालय, कुम्हेर (भरतपुर) एवं कृषि महाविद्यालय फतेहपुर कैम्पस में अधिष्ठाता आवास एवं कन्या छात्रावास और कृषि महाविद्यालय, लालसोट में अधिष्ठाता एवं कार्मिक आवास के साथ भूजल जलाशय और नवनिर्मित ओवरहैड टैंक का भी उद्घाटन किया।

कुलपति प्रो. सन्धू

श्री कर्ण नरेन्द्र कृषि विश्वविद्यालय, जोबनेर के कुलपति प्रो. जीत सिंह सन्धू ने स्वागत उद्बोधन में विश्वविद्यालय द्वारा किए जा रहे शोध एवं किसानों के लिए अपनाए जा रहे नवाचारों के बारे में जानकारी दी।

इस अवसर पर राज्य किसान आयोग के अध्यक्ष श्री महादेव सिंह खण्डेला, राज्य अनुसूचित जाति आयोग के अध्यक्ष श्री खिलाडी लाल बैरवा, किसान आयोग के उपाध्यक्ष श्री दीपचन्द खैरिया, मुख्यमंत्री के सलाहकार श्री बाबूलाल नागर, नीम का थाना विधायक श्री सुरेश मोदी, शाहपुरा विधायक श्री आलोक बेनीवाल, वंशावली संरक्षण एवं संवर्धन अकादमी के अध्यक्ष श्री रामसिंह राव सहित अन्य जन प्रतिनिधि, कृषि विभाग के प्रमुख सचिव श्री दिनेश कुमार एवं अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.