राजस्थान के हाड़ौती में बह रही विकास की गंगा : श्री गहलोत

Share

बूंदी में 1133 करोड़ रूपए के कार्यों का शिलान्यास समारोह, जिले को मिली कृषि महाविद्यालय, आईटीआई सहित कई सौगात

5 अगस्त 2022, जयपुर । राजस्थान के हाड़ौती में बह रही विकास की गंगा : श्री गहलोत – मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत ने कहा कि राज्य सरकार आमजन को सभी क्षेत्रों में सुविधाएं देने के लिए प्रतिबद्धता के साथ काम कर रही है। इसी क्रम में हाड़ौती के सर्वांगीण विकास के लिए घोषित परियोजनाओं से क्षेत्र में विकास की गंगा बह रही है। राज्य सरकार ने कोरोना के दौरान भी विकास की गति को रूकने नहीं दिया। शिक्षा, चिकित्सा, बिजली, पानी, सिंचाई, सडक़, नगरीय विकास व खेलकूद विकास के साथ समाज के सभी कमजोर तबकों को पेंशन, कर्मचारी वर्ग के लिए पुरानी पेंशन योजना जैसे अनेकों जन कल्याणकारी फैसले लिए गए।

श्री अशोक गहलोत बूंदी जिले के हिण्डोली में लगभग 1132.83 करोड़ के विकास कार्यों के शिलान्यास समारोह को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने 974 करोड़ रूपए लागत की हिण्डोली-नैनवां चम्बल पेयजल परियोजना, 21 करोड़ लागत के नर्सिंग कॉलेज, 10.50 करोड़ की लागत के आईटीआई, 6.50 करोड़ की लागत के कृषि महाविद्यालय व 4.50 करोड़ की लागत के राजकीय महाविद्यालय का शिलान्यास किया। वहीं 117 करोड़ की तीन प्रमुख सडक़ों का भी मुख्यमंत्री ने शिलान्यास किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि हिण्डोली-नैनवां चम्बल पेयजल परियोजना से हिंडोली के 185 गांव और 198 ढाणियां तथा नैनवां शहर में 101 गांव और 89 ढाणियों को पेयजल उपलब्ध होगा। परियोजना के तहत 7 स्वच्छ जलाशय और पम्प हाउस, 70 उच्च जलाशय मुख्य स्वच्छ जल की करीब 575 किलोमीटर पाईप लाईन और मुख्य वितरण की करीब 742 किलोमीटर पाईप लाईन बिछाई जाएगी और 82 हजार से अधिक घरेलू कनेक्शन दिए जा सकेंगे।

ई.आर.सी.पी. राज्य की जरूरत

मुख्यमंत्री ने कहा राज्य के 13 जिलों में सिंचाई व पेयजल जलापूर्ति के लिए ई.आर.सी.पी बेहद महत्वपूर्ण है। हम लंबे समय से इसे राष्ट्रीय महत्व की परियोजना घोषित कराने की मांग कर रहे हैं जिस पर केन्द्र ने कोई सकारात्मक फैसला नहीं लिया है।

आयु सीमा में दो वर्ष की छूट

मुख्यमंत्री ने कहा कि कोविड के कारण दो वर्षों तक नौकरी के लिए प्रतियोगी परीक्षाएं समय पर आयोजित नहीं हो सकीं। इसलिए आगामी प्रतियोगी परीक्षाओं में ऐसे वंचित अभ्यर्थियों को अधिकतम आयु सीमा में दो वर्षों की छूट दी जाएगी।

राजस्थान बन रहा एजुकेशन हब

मुख्यमंत्री ने कहा कि बूंदी में नए मेडिकल कॉलेज के लिए 63 बीघा जमीन आवंटन के साथ 147 करोड़ से अधिक की राशि मंजूर की जा चुकी है। वहीं हिण्डोली कॉलेज के लिए 15 एकड़ भूमि के साथ 4.50 करोड़ का बजट उपलब्ध कराया गया है। उन्होंने कहा कि सरकार शिक्षा को सर्वोच्च प्राथमिकाता दे रही है। जहां 1998 में प्रदेश में मात्र 6 विश्वविद्यालय थे आज बढक़र 28 हो गए हैं। सरकार द्वारा 210 नए राजकीय महाविद्यालय खोले गए है, जिनमें 96 कन्या महाविद्यालय शामिल हैं।

स्वास्थ्य के क्षेत्र में अग्रणी

श्री गहलोत ने कहा कि स्वास्थ्य सेवाओं और मेडिकल इन्फ्रास्ट्रक्चर में राजस्थान एक अग्रणी राज्य बनता जा रहा है। आज पूरे देश में चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना की चर्चा हो रही है। इस योजना में प्रति परिवार 10 लाख तक के सालाना बीमे का प्रावधान है। राज्य में पहली बार अलग से कृषि बजट पेश किया गया। किसान मित्र ऊर्जा योजना से लाखों किसानों के बिजली बिल शून्य हो गए हैं।

विकास कार्यों से बदलेगी क्षेत्र की तस्वीर

खेल एवं युवा मामलात तथा सूचना एवं जनसंपर्क राज्य मंत्री श्री अशोक चांदना ने कहा कि हिण्डोली-नैनवां विधानसभा क्षेत्र में 1133 करोड़ के कार्यों की एक साथ सौगात से इलाके में शिक्षा, स्वास्थ्य, सडक़ों और पेयजल की तस्वीर बदल जाएगी। उन्होंने कहा कि नर्सिंग, एग्रीकल्चर और आईटीआई सहित चार कलेज खुलने से शिक्षा की अलख जगेगी।

इस अवसर पर कृषि मंत्री श्री लालचंद कटारिया, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री श्री टीकाराम जूली, गृह राज्य मंत्री श्री राजेन्द्र यादव, पीपल्दा विधायक श्री रामनारायण मीणा, आरटीडीसी चेयरमेन श्री धर्मेद्र राठौड़, जिला प्रमुख श्रीमती चन्द्रावती कंवर सहित अन्य जनप्रतिनिधि, अधिकारी व बड़ी संख्या में जन समूह उपस्थित था।

महत्वपूर्ण खबर:एग्री इंफ्रा फंड योजना में राजस्थान सम्मानित

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.