उद्यानिकी की हर योजना में पचास प्रतिशत अनुदान : श्री मीणा

व्हाट्सएप या फेसबुक पर शेयर करने के लिए नीचे क्लिक करें

विदिशा। उद्यानिकी तथा खाद्य प्रसंस्करण (स्वतंत्र प्रभार), वन राज्यमंत्री श्री सूर्यप्रकाश मीणा ने गत दिनों ग्राम खामखेड़ा में आयोजित जिला स्तरीय लोक कल्याण शिविर को सम्बोधित करते हुए कहा कि उद्यानिकी विभाग की हरेक योजना में पचास प्रतिशत अनुदान शासन द्वारा मुहैया कराया जा रहा है अत: कृषकबंधु रबी, खरीफ की फसलों के साथ-साथ उद्यानिकी फसलों को बढावा दें तथा यंत्रों का अधिक से अधिक उपयोग करें। शासन द्वारा दी जा रही सुविधाओं का लाभ उठाते हुए आमदनी में बढ़ोतरी करने का आग्रह उन्होंने किया।
उद्यानिकी मंत्री श्री मीणा ने कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा मध्यप्रदेश में रहने वाला हर व्यक्ति सुख समद्ध होने के प्रयास किए जा रहे हंै। किसानों की आमदनी दुगनी हो के प्रबंध सुनिश्चित किए जा रहे है। समर्थन मूल्य में प्रति क्विंटल सौ रूपए की वृद्वि की गई है। सरकार की योजनाओं की जानकारी प्राप्त कर उसका लाभ लेने के लिए हम भी आतुर हो।
मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान के 11 वर्षो के कार्यकाल को रेखांकित करते हुए श्री मीणा ने कहा कि प्रदेश को बीमारू राज्य से विकासशील राज्य की श्रेणी में लाने के लिए जो योजनाओं और कार्यक्रम बनाए गए उसकी प्रशंसा राष्ट्र ही नहीं बल्कि अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर हुई है। उन्होंने प्रदेश को चहुँमुखी उन्नतशील बनाने में आमजनों के सहयोग को महत्वपूर्ण बताते हुए कहा कि सहयोग समन्वय से कोई भी कार्य शीघ्रता से सम्पादित हो जाते है।
श्री मीणा ने कहा कि शमशाबाद विधानसभा क्षेत्र में सिंचाई के बेहतर प्रबंध सुनिश्चित किए गए है ऐसे कृषक जो नहरों के माध्यम से सिंचाई नहीं कर पा रहे है। उनके लिए प्रधानमंत्री कृषक सिंचाई योजना के तहत लाभांवित कराने के लिए उन क्षेत्रों को कार्य योजना में शामिल किया गया है।
उद्यानिकी मंत्री श्री मीणा ने कहा कि जिले के ऐसे मजरे टोले जो अब तक राजस्व ग्राम घोषित नहीं हुए है उन्हें शीघ्र चिन्हांकन कर राजस्व ग्राम घोषित करने की कार्यवाही की जाए।

व्हाट्सएप या फेसबुक पर शेयर करने के लिए नीचे क्लिक करें
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

sixteen − 14 =

Open chat
1
आपको यह खबर अपने किसान मित्रों के साथ साझा करनी चाहिए। ऊपर दिए गए 'शेयर' बटन पर क्लिक करें।