सटीक एवं टिकाऊ कृषि  के साथ-साथ कम लागत तकनीकी पर ध्यान दें कृषक 

Share

16 जून 2022, धार । सटीक एवं टिकाऊ कृषि  के साथ-साथ कम लागत तकनीकी पर ध्यान दें कृषक कृषि विज्ञान केन्द्र, धार की वैज्ञानिक सलाहकार समिति की हाइब्रिड मोड (ऑनलाइन एवं ऑफलाइन) बैठक  16 जून  को डॉ. वाय.पी.सिंह, निदेशक विस्तार सेवाएं, रा.वि.सिं.कृ.वि.वि ग्वालियर की अध्यक्षता एवं डॉ. एस.आर.के. सिंह, निदेषक, कृशि तकनीकी अनुप्रयोग अनुसंधान संस्थान, जबलपुर, डॉ. एस.के. चौधरी, अधिश्ठाता, कृशि महाविद्यालय, इन्दौर के विशिष्ट आतिथ्य में सम्पन्न हुई।      

डॉ. वाय.पी.सिंह निदेषक विस्तार सेवाए ने कृषि विज्ञान केन्द्र-ix, धार द्वारा किये जा रहे प्रयासों की प्रषंसा करते हुए आगामी समय में ‘‘ज़ीरो बजट-पाकृतिक खेती’’ पर केन्द्र पर प्रदर्शन इकाई स्थापित करने हेतु निर्देशित किया ।

डॉ. एस.आर.के. सिंह, निदेशक,  कृषि तकनीकी अनुप्रयोग अनुसंधान संस्थान, झोन-प्ग् जबलपुर, ने जिले के अन्य विभागों के साथ समन्वय स्थापित कर कृशकों को कृशि में आजीविका के साथ-साथ व्यावसायिक दृश्टिकोण से जोड़े ताकि कृशि में कम लागत में अधिक मुनाफा प्राप्त हो सके।

केन्द्र के प्रधान वैज्ञानिक एवं प्रमुख डॉ. के.पी. असाटी ने बताया  कृषि विज्ञान केन्द्र, धार का अन्य विभागों के सहयोग से कार्ययोजना बनाकर कार्य कर रहा है जिससे जिले के अधिक से अधिक किसान लाभान्वित हो जिससे कृशकों की आय दोगुनी की जा सके। 

श्री जी.एस. मोहनिया, उपसंचालक कृषि, धार ने अन्तर्वतीय फसलों के साथ-साथ ज़ीरो बजट-पाकृतिक खेती तथा जिले की प्रमुख फसलों में सल्फर एवं जिंक तत्वों पर प्रदर्षन डालने की सलाह दी।

श्रीमती सागारिका चापेकर, जिला प्रबंधक, नाबार्ड, धार ने कृषि विज्ञान केन्द्र, धार को कृशक उत्पादक संगठनों के सृजन हेतु कार्यषाला के आयोजन के संबंध में सलाह दी गई साथ कृषि विज्ञान केन्द्र, धार को ‘‘सेन्टर ऑफ एक्सीलेंस’’ बनाने हेतु बैठक आयोजन का प्रस्ताव दिया।

उक्त कार्यक्रम में श्री नीरज सांवलिया, उपसंचालक उद्यानिकी, श्री कैलास मगर, परियोजना संचालक आत्मा, श्री के.एस. झणिया, उप-परियोजना संचालक, श्री एस.एन. षर्मा, अनुविभागीय कृशि अधिकारी, धार, आत्मा, श्रीमती उर्मिला धु्रर्वे, सहा.संचालक, कृशि, श्री अंकित मोहते, श्री लोकेश चौहान, श्री एम.एस. चौहान, डॉ. आई.एस.तोमर, प्रधान वैज्ञानिक एवं प्रमुख, केविके. झाबुआ, डॉ. धार्वेन्द्र सिंह, प्रमुख कृशि विज्ञान केन्द्र मनावर, डॉ. आर. के. यादव, प्रभारी, कृषि विज्ञान केन्द्र, अलीराजपुर, श्री डी.एस. मण्डलोई, श्री गौरव सारस्वत, श्री भूपेन्द्र कुमार कुर्मी, श्री जितेन्द्र नायक एवं प्रगतिषील कृशक श्री सीताराम निंगवाल, रामनारायण चौधरी, उमेष पाटीदार, सुरेश सिंह, श्री तेजराम जाट सहित 38 सदस्यों ने भाग लिया।

महत्वपूर्ण खबर: धानुका एग्रीटेक ने मध्यप्रदेश में लांच किए 2 नए उत्पाद

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.