किसानों के जीवन एवं फसल का कवच फसल बीमा योजना- कृषि मंत्री श्री पटेल

Share

सीहोर में “मेरी पॉलिसी मेरे हाथ” कार्यक्रम का कृषि मंत्री ने किया शुभारंभ, जैविक खेती अपनाने की अपील

16 सितम्बर 2022, सीहोर किसानों के जीवन एवं फसल का कवच फसल बीमा योजना- कृषि मंत्री श्री पटेल – कृषि मंत्री श्री कमल पटेल ने प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना को किसानों के जीवन एवं फसल का कवच बताते हुए कहा कि संकट आने पर किसानो को फसल क्षति का मुआवजा मिलेगा। पॉलिसी उनके पास होगी तो उन्हें भटकना नहीं पड़ेगा। यह बात उन्होंने सीहोर जिले में फसल बीमा के “मेरी पालिसी मेरे हाथ” कार्यक्रम के शुभारंभ अवसर पर कहीं। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री मोदी तथा मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में किसानो के कल्याण और खेती के विकास के लिए अनेक योजनाएं संचालित की जा रही है। कार्यक्रम में उन्होंने किसानों को प्रधानमंत्री फसल बीमा की पॉलिसी वितरित की और किसानो से संवाद भी किया।

कृषि मंत्री श्री पटेल ने कहा कि इस तरह की योजना देश में पहली बार लागू की गई है। मध्यप्रदेश बगैर ब्याज के ऋण देने वाला देश का पहला प्रदेश है। उन्होंने कहा कि किसान अन्नदाता है। राज्य सरकार अन्नदाता किसानों के हर दुख-दर्द में साथ है। उनके दुख-दर्द को दूर करने के पूरे प्रयास किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार ने किसानों को संकट के समय संबल दिया है। प्रदेश में वन ग्राम के किसानों को भी राजस्व ग्राम के किसानों की तरह ही लाभ दिया जा रहा है।  उन्होंने कहा कि चने की खरीदी पहले जून-जुलाई में होती थी, जिससे किसनों को फसल को व्यापारियों को बेचना पड़ता था। अब गेहूं से पहले मार्च में चने की खरीदी कर रहे हैं। इसका लाभ किसानों को मिल रहा है। समर्थन मूल्य पर चना एवं सरसों खरीदी की सीमा को समाप्त किया गया है। मूंग की समर्थन मूल्य पर खरीदी की व्यवस्था भी की गई है। कार्यक्रम में कृषि विभाग के उप संचालक श्री केके पाण्डेय ने प्रधानमंत्री फसल बीमा के बारे में विस्तार से जानकारी दी। कार्यक्रम में जनपद अध्यक्ष श्रीमती नावड़ी बाई, श्री शंकर जायसवाल, श्री सुशील राठौर सहित अनेक जनप्रतिनिधि उपस्थित थे।

मेरी पॉलिसी मेरे हाथ- कृषि मंत्री श्री कमल पटेल ने कहा कि आज का दिन सीहोर के किसानों के लिए खास दिन है, प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अंतर्गत “मेरी पॉलिसी मेरे हाथ” कार्यक्रम का जिले में शुभारंभ हुआ है। जिले के एक लाख 29 हजार किसानों ने फसल बीमा कराया है। इन सभी किसानों को पॉलिसी  अभियान चलाकर एवं गांव-गांव शिविर लगाकर किसानों को उनके घर पर ही बीमा पॉलिसी उनके हाथ में पहुंचाई जाएगी। मध्यप्रदेश में प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का प्रभावी क्रियान्वयन सुनिश्चित किया जा रहा है। आरबीसी 6(4) के नियमों में किसानों के हित में जरूरी संशोधन कर नियमों को सरल बनाया गया है और किसानों को फसल नुकसान का मुआवजा दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अन्तर्गत सीहोर मे वर्ष 2020 में दो लाख 73 हजार किसानों को 763 करोड़ रूपए की राशि का भुगतान किया गया है।

जैविक खेती के क्षेत्र में मध्यप्रदेश अग्रणी है। मंत्री श्री पटेल ने कहा कि जैविक कृषि उत्पादन का निर्यात लगातार बढ़ रहा है। जैविक उत्पादन के दाम भी किसानों को अच्छे मिल रहे हैं। उन्होंने किसानों से अपने कुल रकबे के कुछ हिस्से में जैविक खेती करने की अपील की।

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.