लागत में कमी के लिये खेत की स्वच्छता आवश्यक : डॉ. किंजल्क

किसान भाई बहन अपने खेत को अधिकाधिक स्वच्छ बनाकर रखें जिससे खेत पर खरपतवार, कीट तथा रोग का आक्रमण फसल पर कम होगा। सही बीज दर, बीजोपचार, जैव उर्वरकों का प्रयोग फसल की लागत कम करने के काम आती है। फसल के बचाव के लिये सही रसायनों का उपयोग, सही मात्रा और सही समय पर करने से प्रति एकड़ लागत कम आती है जो अंतत: किसानों का लाभ बढ़ाया जा सकता हैं। उक्त समझाईश कृषि विज्ञान केंद्र- रीवा की कृषि विस्तार वैज्ञानिक डॉ. किंजल्क सी.सिंह के हैं, जो ग्राम कोठी में आयोजित, ‘कृषि कार्य में व्यय में बचत के उपायÓ विषयक प्रशिक्षण में बोल रही थी। आगे डॉ. चंद्रजीत सिंह ने सलाह दी कि खेत पर पहुँचने वाली व्याधियों में से अधिकतर, गलत ढंग से तैयार गोबर की खाद के कारण होती है। इस समस्या से बचने के लिए खाद को ज़मीन के ऊपर वायु की उपस्थिति में ही तैयार करना चाहिये। जब खाद पूरी तरह से ठंडी हो जाये तभी इसका उपयोग खेत में करना चाहिये। यह कार्यक्रम वरिष्ठ वैज्ञानिक एवं केंद्र प्रमुख डॉ.अजय कुमार पांडेय के मार्गदर्शन में आयोजित किया गया। ग्राम कोठी की आंगनबाड़ी कार्यकर्ता श्रीमती साधना मालवीय ने आभार व्यक्त किया। आयोजन में केंद्र से श्री मृत्युंजय कुमार मिश्र तथा श्री उमेश वर्मा का सहयोग प्रशंसनीय रहा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *