किसान-वैज्ञानिक बना सकते हैं देश को अव्वल : श्री तोमर

Share

राष्ट्रीय खाद्य एवं पोषण अभियान का शुभारंभ

30 अगस्त 2021, नई दिल्ली । किसान-वैज्ञानिक बना सकते हैं देश को अव्वल : श्री तोमर – केंद्रीय कृषि मंत्री श्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा है कि भारत ने खाद्यान्न के क्षेत्र में बड़ी उपलब्धि हासिल की है। कृषि व सम्बद्ध उत्पादों में हमारा स्थान देश दुनिया में नंबर एक या दो पर है। हमारे किसानों व वैज्ञानिकों की इतनी ताकत है कि हम दुनिया में प्रतिस्पर्धा करें तो लगभग सभी जिंसों में नंबर एक हो सकते हैं। श्री तोमर ने यह बात किसानों के लिए राष्ट्रीय खाद्य एवं पोषण अभियान का शुभारंभ करते हुए कही। इसका आयोजन भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद ने किया है।

श्री तोमर ने कहा कि वर्षा आधारित व अन्य क्षेत्रों में कब-कौन सी खेती हो व किन बीजों को ईजाद किया जाए, इस पर आईसीएआर सफलतापूर्वक काम रही है, यह भी प्रयत्न किया जा रहा है कि कृषि व किसान नई तकनीक से जुड़े। हमारे उत्पाद गुणवत्तापूर्ण हो, वैश्विक मानकों पर खरे उतरे, किसान महंगी फसलों की ओर आकर्षित हो, कम रकबे-कम सिंचाई में, पर्यावरण के मित्र रहते हुए पढ़े-लिखे युवा कृषि की ओर आकर्षित हो, यह सरकार के साथ किसानों की भी जिम्मेदारी है। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि मोदी सरकार आने के समय भारत सरकार का कृषि का बजट लगभग 21 हजार करोड़ रूपए होता था, जिसे बढ़ाकर अब 1.23 लाख करोड़ रू. से अधिक कर दिया गया है।

कार्यक्रम में केंद्रीय कृषि राज्य मंत्री श्री कैलाश चौधरी ने कहा कि सरकार ने कुपोषण की समस्या हल करने का संकल्प लिया है, साथ ही इस दिशा में अनेक योजनाएं व कार्यक्रम हाथ में लिए हैं। श्री चौधरी ने कहा कि वर्ष 2023 को भारत के नेतृत्व में पोषक-अनाज वर्ष मनाया जाएगा।

आईसीएआर के महानिदेशक डॉ. त्रिलोचन महापात्र ने बताया कि आईसीएआर द्वारा अधिकाधिक किसानों के बीच कृषि संबंधी उपलब्धियां महोत्सव के दौरान बताई जाएंगी, साथ ही उन्हें लाभान्वित किया जाएगा। आईसीएआर के उप महानिदेशक डॉ. ए.के. सिंह ने कार्यक्रमों की रूपरेखा बताई। कार्यक्रम से आईसीएआर के सचिव श्री संजय गर्ग, सभी उपमहानिदेशक -सहायक महानिदेशक तथा अन्य अधिकारी-वैज्ञानिक, कृषि विश्वविद्यालयों के कुलपति, अन्य कृषि संस्थानों के अधिकारी एवं देशभर के सभी केवीके में मौजूद हजारों किसान वर्चुअल जुड़े थे। इस अवसर पर केंद्रीय मंत्री श्री तोमर ने महोत्सव के कार्यक्रमों व गतिविधियों के संकलन पर आधारित पुस्तिका का विमोचन किया।

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.