फसल उत्पादन बढ़ाने में अत्यधिक कारगर-ग्रोप्लस

Share

3 अगस्त 2021, इंदौर । फसल उत्पादन बढ़ाने में अत्यधिक कारगर-ग्रोप्लस – कोरोमण्डल इंटरनेशल लि. का प्रमुख उत्पाद ग्रोप्लस प्रगतिशील किसानों की पहली पसंद बन चुका है। कोरोमण्डल का ग्रोप्लस ऐसा अकेला उत्पाद है जिसमें 5 अन्य पोषक तत्व पौधों को अतिरिक्त मिलते हैं। डीएपी प्रयोग करने पर किसानों को सल्फर, कैल्शियम जिंक और बोरान अलग से देना पड़ता है जबकि ग्रोप्लस में ये सभी तत्व शामिल हैं।
कोरोमण्डल इंटरनेशल के जनरल मैनेजर श्री डी.के. बलेचा ने बताया कि फसल उत्पादन को दोगुना करने में ग्रोप्लस प्रमुख भूमिका निभा रहा है। विशिष्ट गुणों के कारण इसकी लोकप्रियता निरंतर बढ़ रही है।

कोरोमण्डल इंटरनेशनल के सीनियर एग्रोनामिस्ट श्री प्रमोद पाण्डेय ने बताया कि मृदा परीक्षण के आधार पर किसानों को उर्वरकों का प्रयोग करना चाहिये। कोरोमण्डल का ग्रोप्लस जड़ों को मजबूती देकर और फसल तथा पौधों के संपूर्ण विकास में तेजी लाता है। तने और वनस्पतिक विकास में वृद्धि और सही समय पर पकने में फसल की मदद करता है। फसल में फूल और बीज के निर्माण में वृद्धि लाता है। बीमारियों और ठंडे मौसम में पौधे की प्रतिरोधकता बढ़ाता है। ग्रोप्लस तिलहनों में तेल की मात्रा बढ़ा कर फसल की गुणवत्ता में सुधार के साथ-साथ दाने का आकार और बालियों की संख्या बढ़ाता है। इसमें माइक्रो-न्यूट्रिएंट होने के कारण यह फसल को काफी बेहतर पोषण देता है।

मृदा सुधारक के रूप में काम करते हुए मिट्टी का पीएच बदले बिना मिट्टी की गुणवत्ता और सेहत को बनाए रखता है। श्री पाण्डेय ने बताया कि डीएपी के स्थान पर बेहतरीन परिणाम के लिए ग्रोप्लस के तीन बैग और 20 किलोग्राम यूरिया प्रति एकड़ उपयोग करना लाभकारी है। कोरोमण्डल इंटरनेशनल के रीजनल मैनेजर मार्केटिंग श्री अमित मिश्रा ने बताया कि ग्रोप्लस को सभी तरह की खाद्यान्न फसलों एवं मसाला, सब्जी वाली फसलों में प्रयोग किया जा सकता है। जिन किसानों ने अभी तक ग्रोप्लस अपनी फलसों में प्रयोग किया है वे सभी इसके परिणाम से संतुष्ट हैं। डीएपी की तुलना में सस्ता एवं पांच अतिरिक्त पोषक तत्व मिलने से ग्रोप्लस की मांग लगातार बढ़ रही है। ग्रोप्लस मध्यप्रदेश में कंपनी के अधिकृत डीलर्स के पास उपलब्ध है।

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.