लौकी की नई जातियों, बीज उपचार तथा उर्वरकों की उचित मात्रा की जानकारी देने की कृपा करें

Share this

समाधान- लौकी की व्यापारिक जातियों में पूसा नवीन, अर्का बहार, पूसा मंजरी, पूसा मेघदूत, समर प्रोफाइल लम्बी, समर प्रोफाइल गोल, पी.एम.के.-1, सम्राट, पूसा हाइब्रिड-3, नरेन्द्र रश्मि आदि प्रमुख हैं।

  • बीज बोने के पूर्व बीज को स्यूडोमोनास फ्लोरिसेन्स के 10 ग्राम या ट्राइकोडरमा विरिडी के 4 ग्राम या कार्बेन्डाजिम के 2 ग्राम प्रति किलो बीज के मान से उपाचारित कर लेना चाहिए।
  • प्रत्येक थाले में 10 किलो गोबर की खाद (200 क्विंटल प्रति हेक्टेयर) तथा 100 ग्राम नत्रजन, फास्फोरस व पोटाश 6:12:12 देना चाहिए। बुआई के 30 दिन बाद 10 ग्राम नत्रजन प्रत्येक थाला में दें।

-राजीव पाटीदार, हरदा

Share this
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *