पंचायत प्रतिनिधि गांव के लिए कोई ऐतिहासिक काम करें : श्री मोदी

Share this
पंचायत राज दिवस पर मण्डला में प्रधानमंत्री
भोपाल। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने पंचायत राज दिवस पर पंचायत प्रतिनिधियों को बधाई देते हुए आव्हान किया कि वे अपने गाँव के लिये ऐसा काम करें, जो ऐतिहासिक साबित हो। उन्होंने कहा कि हर जन-प्रतिनिधि के मन में ऐसा काम करने की इच्छा है, जो चिर-स्थाई बना रहे। यह अवसर इसी इच्छा को पूरी करने का संकल्प लेने का है। श्री मोदी पंचायत राज दिवस पर जनजातीय बहुल म.प्र. के मंडला जिले के ऐतिहासिक रामनगर से ग्राम सभाओं को संबोधित कर रहे थे। इस मौके पर म.प्र. की राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन, केन्द्रीय कृषि राज्यमंत्री श्री परषोत्तम रूपाला एवं म.प्र. पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री गोपाल भार्गव भी उपस्थित थे।

श्री मोदी ने पंचायत प्रतिनिधियों से कहा कि वे देश की सवा सौ करोड़ लोगों की भावनाओं का प्रतिनिधित्व करते हैं। श्री मोदी ने कहा कि पंचायत राज प्रतिनिधियों को पाँच साल के लिये कार्यकाल मिलता है। उसमें वे अपनी क्षमतानुसार ऐतिहासिक काम करने में अपनी ऊर्जा और समय लगाये।
प्रधानमंत्री ने कहा कि जन धन, वन धन और गोवर्धन के सही और वैज्ञानिक उपयोग से ग्रामीण भारत का कायाकल्प हो सकता है। उन्होंने कहा कि पंचायत जन-प्रतिनिधि लोगों के प्रति जवाबदेह होते हैं। उन्होंने कहा कि एक सरपंच अगर दृढ़ संकल्प ले तो अपने गांव में आधारभूत परिवर्तन कर सकता है।
पंचायत राज संकल्प लेने का दिवस
प्रधानमंत्री श्री मोदी ने कहा कि वर्ष 2022 में भारत की आजादी के 75 साल पूरे हो रहे हैं और 02 अक्टूबर को महात्मा गांधी जी की जयंती को 150 साल पूरे हो रहे हैं।
जय जवान-जय किसान, जय विज्ञान पर ध्यान दें
प्रधानमंत्री श्री मोदी ने मनेरी में 120 करोड़ रूपये की लागत से लगने वाले एलपीजी गैस बॉटलिंग प्लांट की चर्चा करते हुए कहा कि इससे आस-पास के जिलों में आसानी से गैस प्रदाय होने लगेगा। इससे जुड़े रोजगार का निर्माण होगा। नये अवसर पैदा होंगे। लोगों को सरलता से गैस उपलब्ध होगी। उन्होंने कहा कि जय जवान, जय किसान और जय विज्ञान पर ध्यान दें।
केन्दीय ग्रामीण विकास मंत्री श्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने बताया कि 13 वें वित्त आयोग तक पंचायतों को केवल 60 हजार करोड़ रूपये मिलते थे। अब 14वें वित्त आयोग में पंचायतों को 2 लाख 292 करोड़ रूपये मिल रहे हैं। यह धनराशि पंचायतों के सशक्तिकरण और ग्रामीण विकास में खर्च हो रही है।
म.प्र. में सर्वाधिक मकान गरीबों को
मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि प्रदेश में कोई भी गरीब बिना मकान के नहीं रहेगा। उन्होंने कहा कि अक्टूबर 2018 तक हर घर में बिजली होगी। गरीबों के लिये 13 लाख 50 हजार मकान बनाये जा रहे हैं।

Share this
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ten − seven =

Open chat
1
आपको यह खबर अपने किसान मित्रों के साथ साझा करनी चाहिए। ऊपर दिए गए 'शेयर' बटन पर क्लिक करें।