कैशलेस होने पर कृषि संस्थान होंगे पुरस्कृत

Share

नई दिल्ली। केन्द्रीय कृषि एवं किसान कल्य़ाण मंत्रालय ने देश भर में कैशलेस कारोबार को बढ़ावा देने के लिए कई फैसले किए। कृषि मंत्रालय में डेयर/आईसीएआर के उच्च अधिकारियों की हुई बैठक में  फैसला किया गया कि एक निश्चित समय सीमा के भीतर कैशलेस कारोबार पूरा करने वाले संस्थानों/केवीके/विश्वविद्यालयों को पुरस्कृत किया जाएगा।
बैठक में कृषि एवं किसान कल्य़ाण मंत्रालय ने यह निर्णय लिया कि एक सप्ताह में पूर्णतया कैशलेस होने पर आईसीएआर प्रतिष्ठान को 5 लाख रुपये और केवीके को एक लाख रुपये बतौर इनाम दिया जाएगा। इसी प्रकार 2 सप्ताह में पूरी तरह कैशलेस होने पर आईसीएआर प्रतिष्ठान को 3 लाख रुपये और केवीके को 50 हजार रुपये प्रोत्साहन के तौर पर दिए जाएंगे। तीन सप्ताह में कैशलेस होने पर आईसीएआर संस्थान को 2 लाख रुपये और केवीके को 25 हजार रुपये पुरस्कार के तौर पर दिए जाएंगे।

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.