सोपा का बीज भी अमानक निकला , लायसेंस निलंबित हुआ

Share

23 जून 2021, इंदौरसोपा का बीज भी अमानक निकला , लायसेंस निलंबित हुआइंदौर में गत दिनों मेसर्स दी सोयाबीन प्रोसेसिंग ऐसोसिएशन  ऑफ इंडिया (सोपा) से सोयाबीन के लिये गये नमूनों की जांच कराई गई। सोयाबीन के कुल लिये गये 6 नमूनों में से 5 नमूने अमानक पाये गये। इसके फलस्वरूप सोपा  के   बीज लाइसेंस  को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है। यह संस्था निलंबन के पश्चात अब बीज का क्रय-विक्रय नहीं कर सकेगी। क्रय विक्रय करते पाये जाने पर बीज अधिनियम तथा बीज नियंत्रण आदेश के तहत कार्रवाई की जायेगी।

अनुज्ञप्ति अधिकारी तथा उप संचालक कृषि श्री शिवसिंह राजपूत ने बताया कि  इंदौर में किसानों को गुणवत्तापूर्ण खाद, बीज  सहित अन्य कृषि उत्पादनों की उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिये प्रभावी कार्रवाई की जा रही है। इसी क्रम में सोपा इन्दौर के  सोयाबीन बीज जे.एस. 2034, जे. एस. 9560 के  6 नमूने गत 27 मई  को परीक्षण हेतु लिये गये। नमूनों  का परीक्षण बीज परीक्षण प्रयोगशाला ग्वालियर द्वारा किया गया एवं उसकी  रिपोर्ट  अनुसार नमूने अमानक स्तर के घोषित किये गये। इसके फलस्वरूप बीज लाट के स्कंध को क्रय / विक्रय / भंडारण / स्थानांतरण पर प्रतिबंध लगाकर  बताओ सूचना पत्र जारी किया गया। सोपा  का  प्रतिउत्तर संतोषप्रद न होने से अमान्य किया गया। गत 27 मई 2021 को निरीक्षण के दौरान गोदाम में  भण्डारित सोयाबीन बीज जेएस. 9560 बगैर टेग के 777 बैग (30 किलो भर्ती) में रखा पाया गया। इस संबंध में बीज प्रमाणीकरण अधिकारी इन्दौर ने बताया कि बगैर टैग के पैक्ड सोयाबीन बीज जे.एस. 9560 प्रमाणित नहीं हैं जो कि संदिग्ध है।

इसको देखते हुए  बीज अधिनियम 1966 की धारा 6(ए). 7 (बी) तथा बीज नियंत्रण आदेश 1983 की रा 13 (1) (सी) के उल्लंघन का दोषी मानते हुए मेसर्स दी सोयाबीन प्रोसेसिंग एसोसिएशन आफ इण्डिया (सोपा) एम.आर 9 मालवीय नगर इन्दौर को प्रदाय बीज अनुज्ञप्ति क्रमांक 440 (वैधता दिनांक 20 मई 2025 तक) को बीज नियंत्रण आदेश 1983 के खण्ड 11 में प्रदत्त शक्तियों का प्रयोग करते हुए बीज नियंत्रण आदेश 1983 के खण्ड 15 (बी) अन्तर्गत तत्काल प्रभाव से  निलंबित किया गया है। निलंबन के पश्चात बीज का क्रय-विक्रय नहीं हो सकेगा। अगर क्रय-विक्रय करना पाया गया तो बीज अधिनियम 1966 बीज नियंत्रण आदेश 1983 के तहत कार्यवाही की जायेगी। 

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *