नन्दी शालाओं के मॉडल बनाने के लिए 1.50 करोड़ रुपये की घोषणा : श्री भाया

Share

19 फरवरी 2022, जयपुर ।  नन्दी शालाओं के मॉडल बनाने के लिए 1.50 करोड़ रुपये की घोषणा : श्री भाया  – गोपालन मंत्री श्री प्रमोद भाया ने विधानसभा में कहा कि राज्य सरकार द्वारा बजट 2021-22 में नन्दी शालाओं को मॉडल के आधार पर बनाये जाने के लिए 1.50 करोड़ रुपये की राशि की घोषणा की गई है।

गोपालन मंत्री प्रश्नकाल में विधायक श्री रामलाल शर्मा के मूल प्रश्न के लिखित जवाब में श्री भाया ने बताया कि सरकार द्वारा प्रस्तुत परिवर्तित बजट 2019-20 में आवारा पशुओं की समस्या से निजात पाने के लिए प्रत्येक पंचायत समिति पर नन्दी शालाएं स्थापित करने बाबत घोषणा की गई थी। बजट 2021-22 में इस कार्य को और व्यापक रूप से करने की दृष्टि से अब इन नन्दी शालाओं को राशि 1.50 करोड रुपये के मॉडल के आधार पर बनाये जाने की घोषणा की गई है। उन्होंने बताया कि बजट घोषणा अनुरूप पंचायत समिति स्तर पर नन्दी शालाएं स्थापित करने बाबत दिशा-निर्देश 2 अगस्त 2021 को जारी किये जा चुके है। उन्होंने बताया कि नन्दी शाला संचालन करने वाली संस्थाओं का चयन संबंधित जिला गोपालन समितियों द्वारा किये जाने के लिए निविदा कार्यवाही प्रक्रियाधीन होने के कारण वर्तमान तक प्रदेश में पंचायत समिति स्तरीय स्थापित नंदीशालाओं की संख्या शून्य है।

श्री भाया ने बताया कि जिला गोपालन समिति, जयपुर द्वारा नन्दीशाला संचालन करने वाली संस्थाका चयन करने हेतु निविदा की कार्यवाही प्रक्रियाधीन होने के कारण जयपुर जिले की पंचायत समिति में वर्तमान तक नन्दीशाला खोले जाने की संख्या शून्य है।

उन्होंने बताया कि इस वित्तीय वर्ष में पंचायत स्तरीय समिति नन्दी शाला के लिए 111.91 करोड़ रुपए का प्रावधान रखा गया है। जिला गोपालन समितियों द्वारा नन्दी्शाला संचालन करने वाली संस्था का चयन करने हेतु निविदा की कार्यवाही प्रक्रियाधीन होने के कारण वर्तमान तक प्रदेश में नन्दीशाला खोले जाने की संख्या शून्य है। जिलों को राशि आवंटन का कार्य प्रक्रियाधीन है।

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.