किसान संगठनों के हस्तक्षेप के बाद किसानों को हुआ 40 लाख का भुगतान

Share

7 जून 2022, इंदौर । किसान संगठनों के हस्तक्षेप के बाद किसानों को हुआ 40 लाख का भुगतान इंदौर की छावनी अनाज मंडी में कई किसानों का माल 15 दिन पहले खरीदने के बाद भी व्यापारियों द्वारा भुगतान में टालम-टोल करने और अब तक भुगतान नहीं होने का मामला सामने आने पर संयुक्त किसान मोर्चा से जुड़े संगठनों किसान मजदूर सेना और किसान संघर्ष समिति द्वारा कृषि उपज मंडी से तुरंत भुगतान करवाने की मांग की गई। किसान संगठनों के हस्तक्षेप के बाद कुछ किसानों को करीब 40 लाख रुपए का भुगतान हो पाया है। अन्य कई किसानों का भुगतान अभी भी बाकी है।

किसान नेता बबलू जाधव ने कृषक जगत को बताया कि मई माह के पहले सप्ताह में गेहूं और अन्य फसल खरीदी जाने के बाद व्यापारी किसानों को भुगतान करने में टालमटोल कर रहे थे, इसकी जानकारी मिलने पर किसान संगठनों ने मंडी सचिव से किसानों को तुरंत भुगतान कराने की मांग की। इसके बाद कुछ किसानों को करीब 40 लाख रुपए का भुगतान हो पाया है।

संयुक्त किसान मोर्चा इंदौर के संयोजक श्री रामस्वरूप मंत्री ने बताया कि पहले कई व्यापारी किसानों का माल खरीदने के बाद फरार हो गए हैं। किसान नेता द्वय श्री जाधव और श्री मंत्री ने 2019 में मंडी बोर्ड के प्रबंध संचालक और राज्य शासन के उस आदेश की ओर भी ध्यान आकृष्ट कराया, जिसमें दो लाख से कम की फसल यदि किसान बेचता है, तो उसको तत्काल नगद भुगतान किया जाए। लेकिन उस आदेश का भी पालन नहीं हो रहा है। यदि दो लाख तक के नगद भुगतान के नियम का मुख्यमंत्री सख्ती से लागू करवा दें तो किसानों के साथ ठगी होने की आशंका नहीं रहेगी।

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.