Share

8 फरवरी 2021, नई दिल्ली।रेलवे को मिले 1.10 लाख करोड़- केन्द्रीय वित्त मंत्री श्रीमती निर्मला सीतारमण ने गत दिनों आम बजट में रेलवे के लिए रिकॉर्ड 1.10 लाख करोड़ रुपये का आवंटन किया है। इसमें से 1.07 लाख करोड़ पूंजीगत व्यय के लिए होगा। उन्होंने कहा कि रेलवे तीन और डेडीकेटेड फ्रेड कॉरीडोर का निर्माण करेगा। इसमें खडग़पुर से विजयवाड़ा तक ईस्ट कोस्ट कॉरिडोर, भुसावल-खडग़पुर-दानकुई तक ईस्ट-वेस्ट कॉरिडोर तथा इटारसी से विजयवाड़ा तक नार्थ-साउथ कॉरिडोर शामिल है।

रेलवे बजट एक नजर में

  • भारत के लिए राष्ट्रीय रेल योजना 2030 तक भविष्य के लिए तैयार रेल व्यवस्था बनाने के लिए।
  • दिसम्बर, 2023 तक ब्रॉड-गेज मार्गों पर शत-प्रतिशत विद्युतिकरण पूरा करना।
  • ब्रॉड-गेज मार्ग किलोमीटर (आरकेएम) विद्युतिकरण 2021 के अंत तक 72 प्रतिशत यानी 46,000 आरकेएम तक पहुंचाना।
  • पश्चिमी समर्पित भाड़ा कॉरिडोर (डीएफसी) और पूर्वी डीएफसी को जून 2022 तक चालू करना। इससे परिवहन लागत कम होगी और मेक-इन-इंडिया रणनीति को समर्थ बनाया जा सकेगा।
  • अतिरिक्त पहले प्रस्तावित हैं :
  • 2021-22 में पूर्वी डीएफसी का सोननगर : गोमो खण्ड (263.7 किमी) पीपीपी मोड में शुरू किया जायेगा।
  • भावी समर्पित भाड़ा कॉरिडोर परियोजनाएं।
  • यात्रियों की सुगमता और सुरक्षा के उपाय।
  • यात्रियों को बेहतर यात्रा अनुभव देने के लिए पर्यटक रूटों पर सौन्दर्यपरक रूप से डिजाइन किए गए बिस्टाडोम एलएचवी कोच का आरंभ करेंगे।
  • भारतीय रेलवे के उच्च घनत्व नेटवर्क और उच्च उपयोग किए जाने वाले नेटवर्क रूटों को स्वचालित ट्रेन संरक्षण प्रणाली प्रदान की जायेगी, जो मानवीय त्रुटि के कारण ट्रेनों के टकराने जैसी दुर्घटनाओं को समाप्त करेगी।

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *