दीपक ने जलाई जैविक की ज्योति

Share this

खातेगांव। देवास जिले की सतवास तहसील के पास के ग्राम खेरखेड़ा के नवयुवक एवं कृषक जगत के प्रतिनिधि श्री दीपक राव ने क्षेत्र में जैविक खेती की अलख जलाई है, श्री राव स्वयं कृषक नहीं है, खेती के नाम पर उनके पास एक इंच भी जमीन नहीं है। लेकिन खेती में उनकी रूचि ऐसी रही है कि उन्होंने जैविक खेती करने के लिए तहसील के लगभग 25-30 गांवों में जैविक ग्रुप बनाकर किसानों को जैविक खेती करने के लिए प्रेरित कर रहे हैं। श्री राव झांसी कृषि विश्वविद्यालय से एमएससी की है।

देश में बुवाई स्थिति 
27 दिसम्बर तक (लाख हे. में)
फसल बुवाई
  इस वर्ष  गत वर्ष 
  2019-20 2018-19
गेहूं 297.02 270.75
धान 13.9 11.93
दलहन 140.13 136.83
मोटे अनाज 46.66 42.12
तिलहन 74.12 74.72
कुल 571.82 536.35

आपने तहसील सतवास में अपना एग्री क्लीनिक भी चालू किया है जिसमें अधिकतर जैविक उत्पाद का विक्रय करते हैं। सतवास के अलावा नेमावर धाकड़, नीमखेड़ा पीपल कोटा में भी एग्री क्लिनीक है। श्री राव स्वयं गांव-गांव जाकर किसानों को जैविक खाद जीवामृत बनाने की विधि बताते हैं। जैविक की प्रेरणा लेने खेरखेड़ा के डॉ. किशोर धनगर विगत 3 वर्षों से श्रीदीप ज्योति सामाजिक लोक कल्याण समिति से जुड़कर जैविक खेती कर रहे हैं। और अपनी निजी 1 एकड़ भूमि पर 25 गायों को सरंक्षण दे रहे हैं। दीप ज्योति सामाजिक लोक कल्याण समिति देवास जिले के अलावा हरदा, खण्डवा, सीहोर, इंदौर में लगभग 500 किसानों के साथ जैविक खेती की ओर अग्रसर है।
समिति के मार्गदर्शक सदस्य कुलदीप सोलंकी, एमएससी एजी दुर्गादास बैरागी, जैविक खेती सलाहकार रविशंकर गुर्जर, एमएससी एजी डॉ. लखन श्रीवादी गौसेवा जिन्होंने गौअर्क पीकर अपना स्वयं का कैंसर ठीक किया है। कृषक जगत से रामस्वरूप लौवंशी, डॉ. अरूण मालवीय ने गोबर के गणेश, राखी एवं दीपक बनाये हंै। वीरेंद्र पाटीदार मण्डलेश्वर 200 परिवार क ेसाथ मिलकर 13 बीघा में जैविक सब्जी का उत्पादन कर देवास, इंदौर, मण्डलेश्वर, सतवास के परिवारों को जैविक सब्जी खिला रहे हैं।

Share this

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Open chat
1
आपको यह खबर अपने किसान मित्रों के साथ साझा करनी चाहिए। ऊपर दिए गए 'शेयर' बटन पर क्लिक करें।