जब फसल को संपूर्ण पोषण हो दिलाना तो वुक्साल ही लगाना

Share

9 अगस्त 2021,  जब फसल को संपूर्ण पोषण हो दिलाना तो वुक्साल ही लगाना –

संतुलित पोषण का महत्व

जस्टस वॉन लाइबिग के ‘‘न्यूनतम के नियम’’ ने सिद्ध किया है कि यदि पोषण देने वाले तत्वों में से एक भी तत्व का अभाव है या कम है तो पौधे का ठीक से विकास नहीं होगा, चाहे अन्य तत्व प्रचुर में मात्रा में हों।

फसलों पर पर्णीय उर्वरक प्रबंधन की आवश्यकता क्यों ?

पौधों द्वारा पोषक तत्वों का अवशोषण सिर्फ जड़ों के द्वारा ही नहीं बल्कि पत्तियों के द्वारा भी होता है लेकिन पत्तियों के द्वारा कम एवं जड़ों के द्वारा अधिक अवशोषण होता है। फसलों पर पर्णीय छिडक़ाव तब विशेष रुप से उपयोगी होता है जब मिट्टी से पोषक तत्वों का अवशोषण अपर्याप्त या अनिश्चित होता है।
फसल की क्रान्तिक अवस्थाओं पर जब पोषक तत्वों की मांग मिट्टी द्वारा पोषक तत्वों की आपूर्ति से अधिक हो, उस समय पर्णीय उर्वरक प्रबंधन उपयुक्त होता है। विषम परिस्थितियों जैसे सूखा, फसलों में पानी लग जाना, मृदा तापमान बढ़ या घट जाना, पोषक तत्वों की कमी दिखना आदि में इस विधि द्वारा पोषक तत्वों की पूर्ति की जाती है।

वुक्साल  एक पर्णीय उर्वरक

वुक्साल  पर्णीय उर्वरक प्रबंधन के माध्यम से हम विशेष फसल पोषण के लिए एक सही माध्यम प्रदान करते हैं। जैसे वॉयलिन किसी ऑर्केस्ट्रा की संगतता को सही-सही रूप देता है, उसी तरह वुक्साल कृषि उत्पादन में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। यह किसान, फसल और पर्यावरण के बीच परस्पर क्रिया को पूरा करता है।

वुक्साल की विशेषताएँ

सर्फेक्टेंट

पत्ती पर एक समान वितरण, जिससे मिले बेहतर कवरेज, पर्णीय उर्वरकों एवं कीटनाशकों की बेहतर कार्यक्षमता।

चिलेटिंग एजेंट

पोषक तत्वों और कीटनाशकों के अवशोषण में वृद्धि करने के लिए पोषक तत्वों को पौधों के लिए उपलब्ध रूप में रखता है।

स्टिकर

पत्तियों पर छिडक़ाव की परत बनती है जिससे पोषक तत्वों की हानि से बचा जा सकता है।

ह्युमेक्टेन्ट

आर्द्रता के आकर्षण के कारण जमा शुष्क अवशेषों का पुन: सक्रियण, जिससे मिले अनुकूलित पोषक तत्वों का अवशोषण।

अनुकूलता
बफरिंग एजेन्ट

अनुकूलता – अधिकांश कीटनाशकों के साथ उच्च अनुकूलता और प्रबंधन में आसानी।

बफरिंग एजेन्ट – स्प्रे सॉल्यूशन पीएच वैल्यू का ईष्टतम स्तर पर समायोजन। ईष्टतम पी.एच. वेल्यू होने के कारण बेहतर उपयोग एवं कीटनाशक स्थिरता।

वाष्पन रोधी

उपयोग के दौरान भी सूक्ष्म छोटी बूंदों के वाष्पीकरण की रोकथाम जिससे शीघ्र अवशोषण और उच्च अनुप्रयोग दक्षता मिलती है।

वुक्साल- मैक्रोमिक्स यह सभी फसलों में विकास और गुणवत्ता सुधार के लिए उच्च स्तर पर अच्छी तरह से संतुलित N,P2O5,K2O-16-16-12 अनुपात और सूक्ष्म पोषक तत्वों (B–1%–1%, चिलेटेर्ड Zn–1%, चिलेटेड Co – 0.0008%, चिलेटेड Cu – 0.0212%, चिलेटेड Fe – 0.0437%, चिलेटेड Mn – 0.0367% & Mo – 0.00028%) की पूर्ण आपूर्ति वाला सस्पेंशन है।

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.