20 हजार रूपए महीना कमा रहे हैं मुर्गीपालक

Share

खंडवा में मुर्गीपालन प्रशिक्षण

(पंकज कुशवाह )

खंडवा। भारत सरकार के प्रधानमंत्री कौशल विकास कार्यक्रम में कृषि महाविद्यालय और कृषि विज्ञान केंद्र खंडवा के संयुक्त तत्वाधान में जिले के सभी तहसील और ब्लॉक स्तरों से आये हुये किसानों और बेरोजगार युवाओं को आर्थिक समृद्धि के द्वार खोलने के उद्देश्य से 42 दिवसीय लघुमुर्गीपालक सेमिनार का उद्घाटन कृषि महाविद्यालय के डीन डॉ. यू.पी.एस. भदौरिया और कृषि विज्ञान केंद्र के प्रधान वैज्ञानिक डॉ. डी.के.वाणी द्वारा कृषि विज्ञान केंद्र में किया गया। कार्यक्रम प्रभारी वैज्ञानिक श्री सुभाष रावत द्वारा बताया गया कि कृषि विज्ञान केंद्र द्वारा 6 जनवरी 2020 से 18 फरवरी 2020 तक लघुमुुुुर्गीपालक ट्रेनिंग आयोजित की जा रही है जिसका मुख्य उद्देश्य जिले के किसानों और बेरोजगार युवाओं को व्यवसाय की मुख्यधारा से जोड़कर स्वावलंबी बनाना और मुर्गीपालन में आने वाली कठिनाईयों से अवगत कराना और उनसे कैसे निपटा जाये इस बात की जानकारी देना है।
उन्होंने यह भी बताया कि इस ट्रेनिंग में विषय विशेष के विशेषज्ञों द्वारा नियमित कार्यशालाएं लगाई जा रही हैं जिससे किसानों और युवाओं को जानकारी के साथ-साथ प्रेक्टिकल ज्ञान भी मिल सके। जैसे- मुर्गीपालन के आयाम और रणनीति, बैटनरी, पर्यावरण सुरक्षा के साथ व्यवसाय कैसे करें,बीमारी की पहचान व उपचार, मार्केटिंग, शासकीय नीतियां आदि विषयों की विस्तार पूर्वक जानकारी दी जा रही है।
यह प्रशिक्षण विगत वर्ष प्रारंभ किया गया था जिससे 24 प्रशिक्षाणार्थी जिसमें से 13 कृषक ऐेसे हैं जिन्होंने प्रशिक्षण प्राप्त करने के बाद रोजगार प्रारंभ किया और बीस हजार रूपये प्रतिमाह की आय प्राप्त कर रहे हैं।

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.