14 क्विंटल प्रति एकड़ की उपज मिली

www.krishakjagat.org

रिलायंस फाउंडेशन के हेल्पलाइन से

भोपाल। जिले के ब्लाक बैरसिया के ग्राम गरेटिया के किसान श्री मुकेश सिंह जिनके पास 2.5 एकड़ जमीन है जून माह से श्री सिंह रिलायंस फाउंडेशन रेडियो एवं कृषक जगत अखबार पर पशुपालन एवं खेती से संबंधित जानकारियां सुन व पढ़ रहे थे। वे बताते हैं कि पिछले 2 साल से मैं रिलायंस फाउंडेशन के बारे में तो जानता था लेकिन इतना विश्वास नहीं होता था। मुझे पशुपालन से संबंधित जानकारी की आवश्यकता थी और हेल्पलाइन नंबर के बारे में भी बताया गया तो हेल्पलाइन पर मैंने कॉल किया। मुझे रेडियो तथा हेल्पलाइन नंबर से पशुपालन से संबंधित जो जानकारी मिली मुझे बहुत अच्छी लगी और मैंने पशुपालन विभाग में जाकर टीकाकरण तथा छोटे जानवरों को कृमिनाशक दवा दी और हरे चारे के साथ साथ उनको पोषण से संबंधित मिनरल मिक्चर खिलाया मेरे पास तीन में से दो गाय तीन छोटे-छोटे बछड़े हंै जुलाई माह में तो मेरे को इतना समझ में नहीं आया। लेकिन अगस्त माह से परिणाम देखने को मिले जिसमें मेरे जो भैंस 6:30 लीटर दूध देती थी वह 7:30 लीटर दूध हो गया और और एक गाय जो 4:30 लीटर दूध प्रतिदिन देती थी उसका 5 लीटर दूध हो गया।
पशुओं के स्वास्थ्य में सुधार आया और ग्याभिन भी हो गई। मैंने रेडियो को रोजाना सुनना शुरू किया और जानवरों में कुछ समस्या आती तो रिलायंस फाउंडेशन के हेल्पलाइन नंबर पर कॉल करता और पशुपालन विभाग में जाकर उनका इलाज कराता। खेती के लिए भी अब तकनीकी जानकारी रेडियो के माध्यम से मिलने लगी और कृषक जगत भी मैं पढऩे लगा। जिसकी वजह से मैंने सोयाबीन में कीट प्रबंधन और सिंचाई प्रबंधन किया गेहूं में सिंचाई का प्रबंधन किया और चने की फसल में कीट प्रबंधन किया। सही समय पर जानकारी होने की वजह से मेरी गेहूं की पिछले साल जो 12 क्विंटल प्रति एकड़ उपज थी वह इस बार 14 क्विंटल प्रति एकड़ की उपज मिली और सोयाबीन में भी डेढ़ क्विंटल प्रति एकड़ के हिसाब से ज्यादा उत्पादन मिला। मैं रिलायंस फाउंडेशन का धन्यवाद देता हूं जो किसानों को इस तरह की जानकारियां पहुंचा रहा है।

FacebooktwitterFacebooktwitter
www.krishakjagat.org
Share