धान का पीला तना छेदक कीट

धान में सबसे ज्यादा नुकसान पीला तनाछेदक कीट से होता है। यह कीट पौधा उगने से 5-6 दिन पश्चात् से पकने तक नुकसान पहुंचाता है। व्यस्क कीट हल्के पीले रंग का 1 – 1.5 सेमी. पतंगा है जो सुबह के समय पत्तियों पर बैठा दिखाई देता है। मादा कीट के दोनों ऊपरी पंखों पर बिल्कुल बीच में एक काले रंग का धब्बा होता है। नर कीट के हल्के भूरे पंखों पर कई छोटे -छोटे धब्बे दिखाई देते हैं। इस कीट की इल्लियां फसल को नुकसान पहुंचाती हैं जो कि 20 मिलीमीटर लंबी मटमैली सफेद या हरे पीले रंग की भूरे सिर वाली होती है। जिससे पौधे की बीच की पत्तियां सूख जाती है। जिसे सफेद बाली (व्हाइट ईयर हेड) कहते हैं तथा इनमें दाने नहीं बनते हैं तथा बालियां खीचने पर आसानी से निकल जाती है (डेड हर्ट ) ।

आर्थिक नुकसान पहुंचाने की शुरुआत का स्तर 5त्न मृतगोभ या 2त्न सफेद बाली
प्रबंधन

  • सामान्य मादा कीट पत्तियों के सिरों पर झुंड में अंडे देती है। पौध रोपाई से पहले पत्तियों को काट देने से इस कीट का प्रकोप कम किया जा सकता है।
  • पौध रोपाई से पूर्व की जड़ों को क्लोरोपायरीफॉस 20 ई.सी. की 10 मिली मात्रा 10 ली. पानी के घोल की दर से रातभर डुबोने के पश्चात तैयार खेत में रोपने से तना छेदक कीट का प्रकोप कम होता है।
  • इस कीट की निगरानी के लिये 5 गंधपाश या फेरोमेन ट्रेप 20-25 मीटर की दूरी पर प्रति हेक्टेयर फसल ऊंचाई से लगभग 30 सेमी. ऊपर लगाना चाहिए बीस दिन पश्चात् पुराने सेप्टा (ल्योर) को नए सेप्टा से बदल देना चाहिए। यह ध्यान रखे की फसल बढ़वार के अनुसार गंधपाश हमेशा फसल से लगभग 30 सेमी. ऊंचा रहे।
  • प्रकृति में मकडिय़ां इस कीट के अण्डों एवं इल्लियों को नष्ट करती है। खेत में इसे बढ़ावा देने के लिये धान के पुलाव के झाडू बनाकर 15-20 जगहों पर खेत में बांस की खूंटियां लगाकर गाडऩा चाहिए।
  • कीटनाशक द्वारा प्रबंधन के लिये कारटाप हाईड्रोक्लोराइड 4 जी या फिप्रोनिल 0.3 जी की 20 किग्रा. मात्रा प्रति हेक्टेयर रेत में मिलाकर खेत में 2-3 इंच खड़े पानी में प्रयोग करें अथवा क्विनालफॉस 25 ई.सी. की 1 लीटर मात्रा प्रति हेक्टेयर या करटाप हाईड्रोक्लोराइड 50 एस.पी. की 500 ग्राम मात्रा प्रति हेक्टेयर 500 ली. पानी में घोल बनाकर छिड़काव करें।
  • फसल की कटाई जमीन स्तर तक करें एवं अवशेषों को नष्ट करें जिससे इल्लियां नष्ट हो सके।

 

  • डॉ. अरविन्दर कौर
  • राज सिंह कुशवाह
    email : kvkgwalior@rediffmail.com
    मो. : 9977027137

www.krishakjagat.org

2 thoughts on “धान का पीला तना छेदक कीट

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Share