कृषि के विकास में नारी शक्ति सर्वोपरि : कविता पाटीदार

इंदौर। कृषि के विकास में नारी शक्ति सर्वोपरि है। हमें नारी शक्ति, मातृशक्ति को आगे लाना होगा। भारतीय खेती में महिलाओं की भागीदारी 80 से 90 प्रतिशत है। गांव की महिलाएं संयुक्त परिवार में रहकर पारिवारिक कार्यों के साथ-साथ पशुओं व खेती की देखभाल करती हैं। यदि ग्रामीण महिलाएं सुशिक्षित व आर्थिक रूप से मजबूत हैं तो राष्ट्र भी मजबूत होगा। अर्थात् सशक्त नारी-सशक्त भारत। उक्त उद्गार कविता पाटीदार, अध्यक्ष, जिला जनपद इंदौर ने इफको इंदौर के तत्वावधान में, क्षेत्रीय ग्रा. विकास प्रशिक्षण केंद्र, इंदौर में तीन दिवसीय ‘महिला कृषक प्रशिक्षण एवं भ्रमण कार्यक्रमÓ में मुख्य अतिथि के रूप में व्यक्त किये।
कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए श्री एस.सी. अग्रवाल, संयुक्त संचालक (कृषि) इंदौर ने अपने उद्बोधन में कहा कि खेती को लाभ का धंधा बनाने के लिये हमें योजनाबद्ध तरीके से खेती करनी होगी। श्री एम.एल. जोशी, राज्य विपणन प्रबंधक, इफको भोपाल ने इफको संस्था का परिचय, प्रशिक्षण का महत्व एवं उत्पादित उर्वरकों के बारे में बताया।
इफको इंदौर के मुख्य क्षेत्रीय प्रबंधक श्री सुनील सक्सेना ने इंदौर संभाग के विभिन्न जिले से 40 महिलाओं के समूह का तीन दिवसीय प्रशिक्षण एवं भ्रमण कार्यक्रम की नई जानकारियां दी।
महिलाओं के समूह को इस तीन दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम में श्रीमती उर्मिला पवार विषय वस्तु विशेषज्ञ, क्षेत्रीय ग्रामीण विकास प्रशिक्षण केंद्र, इंदौर, श्री राजीव कुमार जैन, निदेशक, क्षेत्रीय प्रसार निदेशालय, सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय, भोपाल, श्री ललित कुमार, प्रशिक्षण अधिकारी, साग-भाजी एवं फल परिरक्षण प्रशिक्षण केंद्र, इंदौर, डॉ. बी.यू. दुपारे व डॉ. एस.वर्मा, वैज्ञानिक सोयाबीन अनुसंधान निदेशालय, इंदौर, कु. अर्चना, विषय वस्तु विशेषज्ञ, कृषि विज्ञान केंद्र, कस्तूरबाग्राम इंदौर, श्री महेश त्रिवेदी, मंडल प्रबंधक, म.प्र. राज्य सह. विपणन संघ इंदौर, श्री संतोष पांडेय, मुख्य प्रबंधक (कृषि सेवाएं) इफको इंदौर ने विभिन्न विषयों पर जानकारी एवं प्रशिक्षण दिया। कार्यक्रम का संचालन श्री संतोष पांडेय, मुख्य प्रबंधक (कृषि सेवाएं) इफको इंदौर एवं आभार प्रदर्शन श्री पंकज अभ्यंकर क्षेत्र प्रबंधक इफको इंदौर द्वारा किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *