समर्थन मूल्य पर अब तक 1,47,005 क्विंटल गेहूँ की खरीद

व्हाट्सएप या फेसबुक पर शेयर करने के लिए नीचे क्लिक करें

पन्ना। जिलेभर में 25 मार्च से समर्थन मूल्य पर गेहूँ की खरीद का कार्य प्रारंभ हो गया है। निर्धारित 41 खरीदी केन्द्रों में गेहूँ की खरीद पंजीकृत किसानों से की जा रही है। अब तक जिले में कुल 3459 किसानों से 147005 क्विंटल गेहूँ की खरीद की जा चुकी है। गेहूँ की खरीद सहकारी समितियों के माध्यम से की जा रही है। अब तक किसानों को 18 करोड़ 91 लाख 98 हजार 900 रूपये का भुगतान उनके बैंक खाते में किया जा चुका है। खरीदे गए गेहूँ का तत्काल भण्डारण किया जा रहा है।
इस संबंध में जिला आपूर्ति अधिकारी श्री बी.आर. डोंगरे ने बताया कि खरीदी केन्द्र प्राथमिक साख सहकारी समिति पहाडीखेरा में 31.50 क्विंटल, बृजपुर में 256.50 क्विंटल, लक्ष्मीपुर में 174 क्विंटल, देवेन्द्रनगर में 4310 क्विंटल, राजापुर में 4908 क्विंटल, बिरवाही में 3377.50 क्विंटल, रैगढ़ में 3551 क्विंटल, अमानगंज में 5532 क्विंटल, गुनौर में 5329 क्विंटल, सलेहा में 1194 क्विंटल, पवई में 2400 क्विंटल, करही में 3084 क्विंटल, सिमरिया में 8815 क्विंटल, रैयासांटा में 2003 क्विंटल, शाहनगर में 737 क्विंटल, बोरी में 4035 क्विंटल, रैपुरा में 8827 क्विंटल, बघवारकला में 2333.50 क्विंटल, बगरौड में 465 क्विंटल खरीद की गई है।
जवाहर प्राथमिक साख सहकारी समिति देवेन्द्रनगर में 6800 क्विंटल, विपणन समिति गुनौर में 22190 क्विंटल, प्रा.स.स. बराछ में 3757 क्विंटल, ककरहटी में 8084 क्विंटल, कमताना में 4563 क्विंटल, द्वारी में 2990 क्विंटल, कृष्णगढ में 2141 क्विंटल, मोहन्द्रा में 3506 क्विंटल, प्रा.कृ.सा.स. समिति पगरा में 3648 क्विंटल, फतेहपुर में 3362 क्विंटल, झरकुआ में 9775 क्विंटल, महेबा में 6449 क्विंटल, बिसानी में 73 क्विंटल, सुनवानीकला में 4404 क्विंटल, मुडवारी में 394 क्विंटल, नानाजी विपणन सहकारी समिति पवई में 1148 क्विंटल तथा प्राकृसास समिति मलघन में 2351 क्विंटल गेहूँ की खरीद की गई है। जिला आपूर्ति अधिकारी ने बताया कि शासन द्वारा दिए गए निर्देशों के अनुरूप सभी खरीदी केन्द्रों में गेहूँ के भण्डारण की व्यवस्था की गई है।

व्हाट्सएप या फेसबुक पर शेयर करने के लिए नीचे क्लिक करें
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

4 + 2 =

Open chat
1
आपको यह खबर अपने किसान मित्रों के साथ साझा करनी चाहिए। ऊपर दिए गए 'शेयर' बटन पर क्लिक करें।