महिन्द्रा ने डिजिटल फ्लेटफॉर्म माइएग्रीगुरु लांच किया

व्हाट्सएप या फेसबुक पर शेयर करने के लिए नीचे क्लिक करें

मुम्बई। महिन्द्रा एंड महिन्द्रा की पूर्ण स्वामित्व वाली अनुषंगी इकाई, महिन्द्रा एग्री सॉल्यूशंस लिमिटेड (एमएएसएल) ने माइएग्रीगरु एप लांच किया है। माइएग्रीगुरु एप से किसानों को खेती से संबंधित समस्याओं पर तत्काल एवं भरोसेमंद समाधान के लिए दूसरे किसानों एवं कृषि विशेषज्ञों से संपर्क करने में आसानी होगी।
महिन्द्रा एग्री सॉल्यूशंस लिमिटेड के एमडी एवं सीईओ श्री अशोक शर्मा ने कहा कि महिन्द्रा के लिए कृषि तकनीक कुशलता हमेशा ही एक प्रमुख व्यावसायिक संचालक और दीर्घकालीन विजन रहा है। हम वर्ष 2025 के आते-आते 75 मिलियन किसानों के जीवन में सकारात्मक बदलाव लाना चाहते हैं। माइएग्रीगुरु का विकास इसी आकांक्षा और सोच का नतीजा है। उन्होंने कहा कि माइएग्रीगुरु भारत सरकार के डिजिटल इंडिया के व्यापक कार्यक्रम के अंग के रूप में कृषि क्षेत्र को डिजिटलीकृत करने के लक्ष्य को बल प्रदान करता है। वर्ष 2022 के आते-आते किसानों की आमदनी को दोगुना करने के भारत सरकार का लक्ष्य हासिल करने में भी इसकी महत्वपूर्ण भूमिका होगी। माइएग्रीगुरु में फसल, कृषि चर्चा, बाजार मूल्य और मौसम की जानकारी जैसी मुख्य विशेषताएं सम्मिलित हैं। चर्चा एक और जरूरी विशेषता है जिसके माध्यम से कृषि विशेषज्ञों और कृषक समुदाय के दूसरे अनुभवी किसानों के ज्ञान एवं विशेषज्ञता का लाभ मिलता है।
डाउनलोड कहां से करें
माइएग्रीगुरु एप एंड्रॉइड फोन पर गूगल प्ले स्टोर से या 90222 20098 पर मिस्ड कॉल करके डाउनलोड किया जा सकता है।  माइएग्रीगुरु को www.myagriguru.com  से भी एक्सेस किया जा सकता है। इस एप का विवरण https://youtube/VWoCK1H0y30 पर उपलब्ध है।

  • मोबाइल एप के रूप में प्रस्तुत 24&7 परामर्शी प्लेटफार्म।
  • अंग्रेजी और हिन्दी में एंड्रॉइड प्लेटफॉर्म पर उपलब्ध।
  • माइएग्रीगुरु एप में आवश्यक रीयल टाइम जानकारियां (जैसे कि भविष्यवाणी, मंडी में कीमतें आदि) हैं, इससे किसानों को मिलेगी उनके पैदावार की सर्वश्रेष्ठ कीमत की जानकारी।
  • चर्चा से किसानों को कृषि विशेषज्ञो से डिजिटल बातचीत की सुविधा।
व्हाट्सएप या फेसबुक पर शेयर करने के लिए नीचे क्लिक करें
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

14 + seventeen =

Open chat
1
आपको यह खबर अपने किसान मित्रों के साथ साझा करनी चाहिए। ऊपर दिए गए 'शेयर' बटन पर क्लिक करें।