कतार बोनी से बढ़ेगा फसलों का उत्पादन

Share

पन्ना। कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में कृषि तथा संबंधित विभागों की समीक्षा बैठक आयोजित की गयी। बैठक में कलेक्टर जे.पी. आईरीन सिंथिया ने कहा कि खेती को लाभ का व्यवसाय बनाने के लिए इसको आधुनिक बनाए। किसानों की परम्परागत तकनीक में सुधार कराए। फसलों की कतार से कतार में बोनी से उत्पादन बढेगा इसे प्रोत्साहित करें। कृषि उत्पादन बढाने के लिए शासन द्वारा चलायी जा रही विभिन्न योजनाओं की जानकारी किसानों को दें। इनसे लाभ लेने के लिए किसानों को प्रेरित करें।
बैठक में कलेक्टर ने कहा कि किसानों को खेती के साथ साथ पशुपालन तथा उद्यानिकी फसलों के लिए प्रेरित करें। रबी एवं खरीफ फसलों के उत्पादन के साथ ही जायद फसलों के उत्पादन के लिए किसानों को प्रोत्साहित करें। किसानों को नवाचार तथा आधुनिक तकनीकी को अपनाने के लिए प्रेरित करें। आत्मा द्वारा अजोला प्रोजेक्ट पर सराहनीय कार्य किया जा रहा है। इससे जिले में दुग्ध उत्पादन बढेगा। उद्यानिकी एवं मछली पालन विभाग भी नयी तकनीक को शामिल करें। उन्होंने कहा कि जंगली जानवरों से फसलों की सुरक्षा के लिए प्रयोग के तौर पर अल्ट्रा साउंड उपकरण लगाए। कटीले एवं फलदार झाडियों से खेतों की फेसिंग तैयार कराए। उन्होंने किसानों को पाईप लाईन, पम्प सेट तथा स्प्रिंकलर उपलब्ध कराने के लिए विकासखण्डवार लक्ष्य आवंटित किए। उन्होंने कहा कि दो सप्ताह के अन्दर लक्ष्य प्राप्ति कर प्रतिवेदन प्रस्तुत करें। ग्राम सभाओं के माध्यम से किसान मित्रों का चयन कराए। अमरूद, पपीता, केला, नींबू आदि के पौधे लगाने का लक्ष्य भी दो सप्ताह में पूर्ण कर हितग्राहियों को तत्काल राशि उपलब्ध कराए। विभागीय योजनाओं की शत प्रतिशत पूर्ति सुनिश्चित करें।  कलेक्टर ने कहा कि किसानों के लिए जिला स्तरीय सेमिनार एवं मेले का आयोजन अनिवार्य रूप से करें। उन्होंने सहायक संचालक मछली पालन को सभी पात्र हितग्राहियों को तालाब के पट्टे उपलब्ध कराने हेतु शीघ्र कार्यवाही के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि जनपदों से तालाबों की सूची लेकर सम्मिलित रूप से इस कार्य को पूर्ण कराए। बैठक में उप संचालक कृषि रविन्द्र मोदी, उप संचालक पशुपालन बी.एल. पटेल, सहायक संचालक मछली विभाग जे.पी. अहिरवार, आत्मा परियोजना के सदस्यगण एवं संबंधित अधिकारी उपस्थित रहे।

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.