केन्द्रीय कृषि अभियांत्रिकी संस्थान में विदेशी किसानों को कृषि यंत्रों पर प्रशिक्षण

भोपाल। अफ्रीका तथा एशिया महाद्वीप के नौ देशों – बोत्सवाना, घाना, केन्या, लाइबेरिया, मलावी, मोज़ाम्बीक, युगांडा, अफगानिस्तान तथा मंगोलिया से आए 23 प्रशिक्षणार्थियों हेतु  भा.कृ.अनु.प.- केन्द्रीय कृषि अभियांत्रिकी संस्थान नबी बाग भोपाल द्वारा ”छोटे किसानों के लिए कृषि यांत्रिकीकरण पर 15 दिवसीय अंर्तराष्ट्रीय प्रशिक्षण” का आयोजन किया गया। पन्द्रह दिवसीय इस प्रशिक्षण कार्यक्रम का उद्घाटन गत 11 अप्रैल को मध्यप्रदेश शासन के सहकारिता राज्य मंत्री श्री विश्वास सारंग ने किया । 25 अप्रैल तक चलने वाला यह प्रशिक्षण संयुक्त राज्य अमेरिका के अन्तर्राष्ट्रीय विकास विभाग (यूएसएआईडी) द्वारा प्रायोजित कार्यक्रम- ”भविष्य के लिए पोषण भारतीय त्रिकोणीय अंर्तराष्ट्रीय प्रशिक्षण” का एक हिस्सा है।
कार्यक्रम का उद्घाटन सत्र के अध्यक्ष भा.कृ.अनु.प.- केन्द्रीय कृषि अभियांत्रिकी संस्थान, भोपाल के निदेशक डॉ. के.के. सिंह थे। इस अवसर पर मोज़ाम्बीक गणतंत्र उच्चायोग के वाणिज्यिक सलाहकार श्री ओलीवियेरा एमिमो विशेष अतिथि थे। मेनैज संस्थान , हैदराबाद की महानिदेशक एवं ”भविष्य के लिए पोषण भारतीय त्रिकोणीय अंर्तराष्ट्रीय प्रशिक्षण” (एफ.टी.एफ. आई.आई.टी) की समन्वयक श्रीमती वी. ऊषा रानी, भा.प्र.से. भी इस कार्यक्रम में उपस्थित थीं ।
इस प्रशिक्षण में भा.कृ.अनु.प. संगठन के अंर्तगत विकसित प्रौद्योगिकियों एवं मशीनों के प्रयोग तथा विकसित देशों के छोटे खेतों में उपयुक्त यांत्रिकीकरण से संबंधित ज्ञान के आदान-प्रदान पर जोर दिया जायेगा।
कार्यक्रम का समन्वयन तकनीकी हस्तांतरण प्रभाग के  प्रभागाध्यक्ष डॉ. पी सी बरगले  ने किया ।

www.krishakjagat.org
Share