क्या इस वर्ष तिल अधिक लगाने से लाभ होगा यदि हां तो कौन सी जाति कितना खाद विस्तार से बतायें।

समाधान- मानसून की बिगड़ती स्थिति को ध्यान में रखते हुए, सोयाबीन की बुआई के लिये सोचना पड़ेगा। खेत खाली ना

Read more

मैं बैंगन लगाना चाहता हूं कब लगाएं, कितनी खाद, कौन सी जाति लगाएं.

समाधान-वर्ष भर खाये जाने वाली सब्जी बैंगन की खेती आप कर सकते हैं। निम्न बिन्दुओं पर ध्यान दें। वर्षाकालीन बैंगन

Read more

सीआईएई में हुई किसान संगोष्ठी

भोपाल। किसानों की आय दुगनी करने में कृषि यंत्रीकरण की भूमिका पर भाकृअनुप-केन्द्रीय कृषि अभियांत्रिकी संस्थान, भोपाल द्वारा अपने 43वॉ

Read more

मूंग की अति शीघ्र पकने वाली नई जातियां कौन सी हैं ।

समाधान  मूंग की दो अतिशीघ्र पकने वाली जातियों का विकास भारतीय दलहन अनुसंधान केंद्र कानपुर द्वारा किया गया है। पहली

Read more
समस्या- मूंग में पीलेपन का प्रभाव है, कौन सी दवा का छिड़काव करें।

समस्या- मूंग में पीलेपन का प्रभाव है, कौन सी दवा का छिड़काव करें।

समाधान- मूंग में पीलापन वायरस बीमारी के कारण आता है। बीमारी के दिखते ही प्रारम्भ में जिन पौधों में यह

Read more
potato

समस्या – हमारे क्षेत्र के लिये आलू की कौन-कौन सी जातियां उपयुक्त हैं, तकनीकी भी बतायें।

समाधान – छत्तीसगढ़ क्षेत्र में आलू की खेती के विस्तार की प्रबल संभावनायें हैं आप भी आलू लगायें निम्न तकनीकी

Read more

समस्या- मसाला फसल इस वक्त कौन सी लगाई जा सकती है। मैं जीरा लगाना चाहता हूं, तकनीकी लिखें।

समाधान- रबी के मौसम में बहुत सी मसाला फसलों का उत्पादन किया जा सकता है जैसे- धनिया, लहसुन, प्याज, मैथी,

Read more

समस्या- रबी में कौन-कौन सी औषधि फसलें लगाई जा सकती है। अच्छे बीज कहां से प्राप्त करें, कुछ खरीददारों के पते भी लिखें।

समाधान- रबी मौसम में सबसे अधिक लगने वाली औषधि फसलों में ईसबगोल तथा सतावर प्रमुख हंै तथा इसकी कास्त गेहूं

Read more

समस्या- मैं कुल्थी की खेती करना चाहता हूं कौन सी किस्म, कितना खाद कृपया बतायें?

समाधान – कुल्थी आमतौर पर छत्तीसगढ़ क्षेत्र में खरीफ में लगाई जाती है। यह एक ऐसी फसल है तो प्रकृति

Read more
कम पानी में ज्यादा लाभ देने वाली सरसो लगाएं

समस्या- मैं राई (सरसों) लगाना चाहता हूं, कौन सी किस्में लगायें, अभी खेत खाली है कब बोनी की जा सकती है?

समाधान – वर्तमान में वर्षा की स्थिति को देखते हुए और भूमि में नमी के समाप्त होने के डर से

Read more
Share