धान बीज की नर्सरी डलने वाली है उसके बीज की उपचार विधि बतायें।

समाधान – आपका प्रश्न सामयिक है प्रति उत्तर का लाभ अन्य कृषकों को भी मिल सकेगा क्योंकि धान की नर्सरी

Read more

शीघ्र पकने वाली अरहर की खेती करना चाहता हूं जिसके बाद गेहूं लिया जा सके। बीज, खाद, पकने की अवधि आदि की जानकारी देने का कष्ट करें।

समाधान- आप अरहर लगाने के बाद गेहूं की खेती भी कर सकते हैं। इसके लिये आपको अरहर की जल्दी पकने

Read more

गर्मियों में लगाई जाने वाली फसलों के बारे में जानकारी दें जो कम पानी में अधिक उत्पादन दे सके। ओलावृष्टि से फसल के नुकसान का मुआवजा कब मिलेगा।

समाधान – रबी की फसल काटने के बाद सिंचाई साधन उपलब्धि की स्थिति में जायद (ग्रीष्मकाल) में मूंग, उड़द, लोबिया,

Read more

अधिकांश चौड़ी पत्ती वाली फसलों में भभूतिया रोग देखा जा रहा है। नियंत्रण के उपाय बतायें।

समाधान – भभूतिया रोग (पाउड्री मिलड्यू) फसलों की एक सामान्य बीमारी है। इसका प्रकोप आरम्भ में पता नहीं पड़ पाता

Read more

टमाटर की 18 किलो प्रति पौधा देने वाली जाति अर्का रक्षक के बारे में जानकारी दें।

समाधान – टमाटर की अर्का रक्षक जाति भारतीय बागवानी अनुसंधान संस्थान, हिसार, बैंगलोर द्वारा विकसित की गई है। यह संकर

Read more

मूंग की अति शीघ्र पकने वाली नई जातियां कौन सी हैं ।

समाधान  मूंग की दो अतिशीघ्र पकने वाली जातियों का विकास भारतीय दलहन अनुसंधान केंद्र कानपुर द्वारा किया गया है। पहली

Read more

भिण्डी की बसन्त में लगाई जाने वाली नवीनतम जातियों की जानकारी दें।

समाधान– भिण्डी की नई जातियों में प्रमुख है चंचल, कोमल, निर्मल तथा बरगुन्डी हैं चंचल जाति की भिण्डी 15 से

Read more
ravi_fasal

रबी मौसम में कम पानी वाली फसलें लगायें

खरीफ फसलों मक्का, उड़द, सोयाबीन की कटाई के तुरन्त बाद खेत की हकाई, जुताई कर पाटा लगाकर नमी का संचय

Read more

जमीन के अंदर लगाई जाने वाली लहसुन, मूंगफली, अदरक, शकरकंद का उत्पादन बहुत कम होता है। क्या जमीन में कुछ कमी है। कौनसी खाद डालकर अच्छा उत्पादन मिल सकता है।

आपका जिला सभी प्रकार की फसलों के उत्पादन के लिये उपयुक्त है। कंदीय फसल अदरक तो वहां सदियों से लगाया

Read more
कम पानी में ज्यादा लाभ देने वाली सरसो लगाएं

कम पानी में ज्यादा लाभ देने वाली सरसो लगाएं

उज्जैन। सरसों रबी की प्रमुख तिलहनी फसल है, जो कृषकों में बहुत लोकप्रिय होती जा रही है। इसकी वजह ये

Read more
Share