1 हजार किलोमीटर में सोलर फेंसिंग लगेगी

बुरहानपुर। भावांतर भुगतान योजना किसानों के हितों को ध्यान में रखते हुए बनाई गई हैं। यह योजना किसानों के लिए सुरक्षा कवच के समान हैं। इस योजना का लाभ वे किसान ही ले सकेंगे, जिनका भावांतर भुगतान पोर्टल पर ऑनलाईन पंजीयन हुआ हैं। यह बात प्रदेश सरकार में महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती अर्चना चिटनिस ने गतदिनों रेणुका माता रोड स्थित बुरहानपुर कृषि उपज मंडी में भावांतर भुगतान योजना के शुभारंभ अवसर पर कही। कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चैहान का सागर से लाईव संबोधन भी प्रसारित किया गया।
कार्यक्रम में मंत्री श्रीमती चिटनिस ने किसानों को समेकीत योजना की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि बुरहानपुर जिले के किसान इन्ट्रीग्रेडेट फार्मिंग सिस्टम की ओर आना चाहते हैं। किसानों से आव्हान किया कि हम जो खेती बाड़ी, पशुपालन, मधुमक्खी पालन और मछली पालन सभी को मिलाकर करेंगे तो शासन द्वारा किसानों को अनुदान में 1 लाख 50 हजार रूपए से लेकर 2 लाख रूपए तक का अनुदान दिया जाएगा। उन्होंने कृषि विभाग एवं वन विभाग को 1 हजार किलोमीटर की सोलर फेंसिंग का प्रस्ताव तैयार कर भोपाल भेजने के निर्देश दिए हैं। इसकी शीघ्रता से मंजूरी दिलवाई जाएगी, जिससे कि बुरहानपुर जिले में सोलर फेंसिंग योजना का क्रियान्वयन प्रारंभ हो सकेगा।
श्रीमती चिटनिस ने कहा कि, जिले में किसानों द्वारा 150 एकड़ में लहसुन, की खेती करके पहली बार जीरा और अजवाइन 100 एकड़ में लगाई जा रही है। बुरहानपुर में मसालों की फसलों की बहुत संभावनाऐं हैं। उन्होंने किसानों को सलाह देते हुए कहा कि, प्याज की खेती करने से अच्छा लहसुन की खेती करना है। इसका मूल्य भी किसानों को अच्छा मिलेगा।

www.krishakjagat.org
Share