शिवराज सिंह को नोबल प्राइज मिलना चाहिए : श्री पटेरिया

मध्यप्रदेश कांग्रेस कमेटी के उपाध्यक्ष और पूर्व मंत्री राजा पटेरिया ने मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान के उपवास को लेकर उन्हें नये आविष्कारों के लिये प्रतिष्ठित नोबल प्राइज से सम्मानित करने का सुझाव दिया है। श्री पटेरिया ने कहा कि किसानों की समस्याओं का शिवराज सिंह के पेट से क्या संबंध है, यह तो समस्याओं के समाधान के बाद ही पता चलेगा और यदि उपवास से किसानों की कर्जमाफी और उपजों का लाभदायी मूल्य मिलने की मांग पूरी होती है तो निश्चित ही शिवराज सिंह नोबल पुरस्कार के अधिकारी हैं। श्री राजा पटेरिया ने कहा कि मुख्यमंत्री 2011 से लगातार साल दो साल में उपवास, अनशन, धरना देते आये हैं क्योंकि उनका हाजमा बिगड़ जाता है और पेट की सफाई के लिये उपवास करना पड़ता है। इस शारीरिक मजबूरी का वे राजनैतिक लाभ लेने के लिये ही उपवास पर बैठे, लेकिन इस बार नतीजा कुछ निकलने वाला नहीं है। अपने शासनकाल के 11 वर्षों में 11500 किसानों को कर्ज के कारण आत्महत्या करने पर मजबूर करने और लगभग 50 हजार किसानों को बिजली सिंचाई और कर्ज का चुकारा ना करने पर जेल भेजने वाले किसान पुत्र मुख्यमंत्री अब किसानों के लिये सहानुभूति के फर्जी आंसू बहाने के नाम पर बेशर्म कामेडी का तमाशा दिखा रहे हैं।

www.krishakjagat.org
Share