Krishak Jagat

टिकाऊ खेती में एग्रो केमिकल्स की भूमिका

आईसीसी द्वारा आयोजित सेमीनार में (बायें से) श्री प्रभुशरन सिंह सेक्रेटरी आईसीसीएनआर, श्री अशोक गुप्ता चेयरमैन इंडियन प्लास्टिक इंस्टीट्यूट चंडीगढ़ चेप्टर तथा प्रबंध संचालक डी प्लास्ट प्लास्टिक लि., श्री अजयवीर जाखड़ चेयरमेन पंजाब फार्मर्स कमीशन, डॉ. एस.के. मल्होत्रा आयुक्त कृषि भारत शासन, श्री आर.जी. अग्रवाल चेयरमैन धानुका एग्रीटेक लि., श्री एस.एन. सिंह कार्यकारी अध्यक्ष आल इंडिया फार्मर्स एसोसिएशन।

आईसीसी द्वारा सेमीनार का आयोजन

(निमिष गंगराड़े)
चंडीगढ़। इंडियन केमिकल कौंसिल द्वारा चंडीगढ़ में टिकाऊ खेती में कृषि रसायनों के महत्व पर एक सेमीनार का आयोजन गत दिनों किया गया। इसका उद्देश्य किसानों की उपज में स्थायी वृद्धि पर चर्चा है। धानुका एग्रीटेक लि. के चेयरमैन श्री आर.जी. अग्रवाल ने कृषि में चुनौतियों पर प्रकाश डालते हुए धानुका द्वारा इस दिशा में किये जा रहे कार्यों के बारे में बताया। श्री एस.के. मल्होत्रा आयुक्त कृषि भारत सरकार ने चौथे अनुमानित खाद्यान्न उत्पादन के आंकड़े प्रस्तुत किये। उन्होंने कहा कि उत्पादन में वृद्धि क्षेत्र में विस्तार से नहीं बल्कि उत्पादकता में बढ़ौत्री से हुई है। श्री मल्होत्रा ने बताया कि देश में 285 मिलियन टन खाद्यान्न उत्पादन की उम्मीद है। वहीं बागवानी फसलें भी 307 मिलियन टन हुई है। देश में लगभग 10 मिलियन हेक्टेयर कृषि भूमि में माइक्रो इरीगेशन का उपयोग हो रहा है।

श्री अजय वीर चेयरमैन, पंजाब फार्मर्स कमीशन ने कीटनाशकों की नियामक प्रक्रिया में सुधार पर जोर देते हुए कृषि रसायनों पर बार कोड, स्प्रे नोजल पर अनुदान तथा पेस्टीसाइड मैनेजमेंट बिल पर सुझाव दिये।

www.krishakjagat.org