मूँग खरीदी के लिए पंजीयन 6 जून से

रकबे का सत्यापन पोर्टल पर 21 से 25 जून तक

भोपाल। प्रदेश में ग्रीष्मकालीन मूँग की, मंडी विक्रय दरें न्यूनतम समर्थन मूल्य 5575 रुपये प्रति क्विंटल से नीचे होने पर एफएक्यू गुणवत्ता की मूंग उपार्जन केन्द्रों पर खरीदी जायेगी। इसके लिए जिले की प्राथमिक कृषि सहकारी समितियों में 6 जून से 20 जून तक किसानों के पंजीयन की कार्यवाही की जायेगी। पंजीयन के बाद राजस्व विभाग द्वारा पंजीकृत किसान के ग्रीष्मकालीन मूँग के रकबे का सत्यापन पोर्टल पर 21 से 25 जून तक किया जायेगा।

मूंग खरीदी के जिले
होशंगाबाद, सीहोर, रायसेन, नरसिंहपुर, जबलपुर, हरदा, विदिशा, गुना, देवास, इंदौर, धार और बालाघाट।
चना, मसूर, सरसों की 1.5 करोड़ क्विं. से अधिक खरीदी
प्रदेश में 560 उपार्जन केन्द्रों पर अब तक 4 लाख 50 हजार क्विं. चना, मसूर और सरसों की न्यूनतम समर्थन मूल्य पर खरीदी की जा चुकी है। प्रदेश में विगत 10 अप्रैल से लेकर अब तक चना, मसूर और सरसों की 1 करोड़ 52 लाख क्विं. खरीदी की जा चुकी है।

– डॉ. राजेश राजौरा
                                                                                                                                                                                                                   प्रमुख सचिव कृषि म.प्र.
                                                                                                                                                                                                                             

मूँग के पंजीयन के समय उत्पादक किसानों को मूँग के रकबे के भू-अभिलेख, आधार कार्ड, मोबाइल, फोन नम्बर और बैंक खाते के आई.एफ.सी कोड की जानकारी देनी होगी। मूँग की खरीदी के लिए किसानों के पंजीयन का कार्य उन्ही जिलों में किया जा रहा है, जहाँ मूँग की बोवनी का रकबा 2 हजार हेक्टेयर या उससे अधिक है। मूँग खरीदी के लिए कृषि उपज मंडी प्रांगण में प्रक्रिया संबंधी निर्देश किसान कल्याण विभाग द्वारा भेजे जा रहे हैं। साथ ही कहा गया है कि मूँग खरीदी संबंधी कार्य में लगी एजेंसियां किसानों की सुविधा पर विशेष ध्यान दें।

www.krishakjagat.org
Share